खास खबरें तपोभूमि में हुई कल्याण मंदिर विधान की रचना अब प्राइवेट स्‍कूल-कॉलेजों में भी मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ सीरिया में पड़ रही मौसम की मार, कड़ाके की ठण्‍ड से 15 बच्‍चों की मौत मनु साहनी बने आईसीसी के नए सीईओ सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के अपनी ही पार्टी के लिए बगावती बोल, कहा- पार्टी में अब 'तानाशाही' अंकिता लोखंडे ने इजहार, बोलीं- 'हां मैं प्यार में हूं' शीर्ष 100 ग्लोबल थिंकर्स की सूची में भारतीय मुकेश अंबानी का नाम मीजल्स की बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा कर्नाटक : दो निर्दलीय विधायकों ने लिया समर्थन वापस, सीएम कुमार स्‍वामी बोले- मेरी सरकार स्थिर संगम का पहला स्नान, उमड़ रहा जनसैलाब

जी.डी.सी. में 10 लाख रु. की लागत से बनेगा मुक्ताकाशी मंच, विधायक डॉ. मोहन यादव ने भूमि पूजन किया

जी.डी.सी. में 10 लाख रु. की लागत से बनेगा मुक्ताकाशी मंच, विधायक डॉ. मोहन यादव ने भूमि पूजन किया

Post By : Dastak Admin on 12-Sep-2018 21:34:52

gdc, मुक्ताकाशी मंच

    उज्जैन । बुधवार को उज्जैन दक्षिण के विधायक डॉ. मोहन यादव ने शा. कन्या महाविद्यालय दशहरा मैदान के परिसर में 10 लाख रुपये की लागत से बनाए जाने वाले मुक्ताकाशी मंच का भूमि पूजन किया। इस अवसर पर श्री बाबूलाल जैन, श्री शिव लश्करी एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे। कॉलेज की प्राचार्य डॉ. उल्का यादव ने कहा कि काफी समय से महाविद्यालय में एक बड़े मंच की दरकार थी। विधायक डॉ. यादव द्वारा महाविद्यालय परिसर में मंच बनाने के लिए 10 लाख रु. की राशि की घोषणा पूर्व में की गई थी। मंच के बन जाने के बाद महाविद्यालय में आयोजित होने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम और वृहद स्तर पर हो सकेंगे। वर्तमान में कॉलेज में स्थित सभा भवन कम क्षमता का है।

    विधायक डॉ. मोहन यादव ने इस अवसर पर कहा कि उज्जैन के समस्त विद्यालयों और महाविद्यालयों के विकास के लिए निरन्तर कार्य किए जा रहे हैं, ताकि विद्यार्थियों को सभी सुविधाएँ मिल सकें। विधायक ने बताया कि हम सभी के लिए यह प्रसन्नता का विषय है कि हाल ही में गुणवत्ता के आधार पर किए गए सर्वे में प्रदेश के सर्वाधिक अच्छे महाविद्यालयों में उज्जैन के शा. माधव विज्ञान महाविद्यालया को भी शुमार किया गया है। उज्जैन को विज्ञान के क्षेत्र में आगे ले जाने के लिए भी शासन की ओर से विशेष प्रयास किए जायेंगे।

    इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त व्याख्याता, स्टॉफ और छात्राएँ मौजूद थे।

 

Tags: gdc, मुक्ताकाशी मंच

Post your comment
Name
Email
Comment
 

उज्जैन

विविध