खास खबरें ग्रुप डिस्कशन और सेमिनार से बता रहे भोजन में सब्जियां लें, जंकफूड न खाए 2025 तक इंसानों से ज्यादा काम करेंगी मशीनें : वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम माता-पिता की इस लत के खिलाफ बच्‍चों ने सड़कों पर किया विरोध प्रदर्शन क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली और वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को राजीव गांधी खेल रत्न देने की सिफारिश अजय माकन ने दिया दिल्‍ली कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा कैंसर के मुश्किल जंग जीतने के बाद 46 की उम्र में लीजा बनी जुड़वा बेटियों की मॉं सेंसेक्स 37650 के करीब, निफ्टी 11400 के ऊपर कर्तव्यों का निर्वहन सिखाते हैं विश्वविद्यालय : राज्यपाल श्रीमती पटेल रेवाड़ी गैंगरेप : मुख्‍य आरोपी निशु पहले भी कर चुका है ऐसी वारदात चौथे दिन उत्तम शौच धर्म की पूजा के साथ, अपनी वाणी को अपने मन को अपने कर्मों को उत्तम बनाना ही शौच धर्म है

साक्षरता शिविर आयोजित हुआ

साक्षरता शिविर आयोजित हुआ

Post By : Dastak Admin on 18-Sep-2018 22:25:41

saksharta shivir

 

रीवा | ला विधिक सेवा प्राधिकरण रीवा द्वारा जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जे.के. वर्मा के मार्गदर्शन में राजहंस हायर सेकेंडरी स्कूल रीवा में नालसा बालकों हेतु बालमित्रवत विधिक सेवा योजना के तहत विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण आर.पी. सोनकर ने अपने उद्बोधन में बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण का उद्देश्य विधि के बारे में समाज में कानूनी जागरूकता प्रसारित करना एवं समाज के कमजोर वर्गों जैसे महिला, बच्चे, अनुसूचित जाति जनजाति के व्यक्ति, विकलांग व्यक्ति, आपदा पीड़ित एवं ऐसे व्यक्ति जिनकी साल भर में आमदनी एक लाख रूपये से कम है।
    उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि किसी भी बालक के साथ कोई भी अन्यायपूर्ण कृत्य या व्यवहार होता है तो वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में संपर्क कर सकता है, जहां उसके लिए यशोचित कानूनी सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। अपर जिला न्यायाधीश श्री संदीप श्रीवास्तव ने मौलिक अधिकारों व मौलिक कर्तव्यों के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि मौलिक अधिकार व मौलिक कर्तव्य दोनों एक दूसरे के पूरक हैं। आपके लिए अधिकार हैं तो कर्तव्य भी आपके हैं। यदि हम अपने मौलिक कर्तव्यों का पालन करेंगे तो दूसरे के मौलिक अधिकार का स्वत: ही पालन हो जाएगा। जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय मिश्रा ने विधिक सेवा प्राधिकरण की योजनाओं के बारे में बताया। डॉ. रमाशंकर द्विवेदी ने मोटर व्हीकल एक्ट के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 16 से 18 वर्ष के बच्चे हल्की बाईक चलाते हैं, लेकिन लाईसेंस नहीं बनवाते, जो कि अति-आवश्यक है। उन्होंने कहा कि बिना बीमा के कोई भी वाहन नहीं चलाऐं जाने चाहिए। उन्होंने साईबर क्राइम के बारे में भी छात्र-छात्राओं को जानकारी दी। कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती भारती शर्मा ने तम्बाकू, गुटखा आदि मादक पदार्थों के नुकसान के बारे में जानकारी देते हुए छात्रों को नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन व आभार प्राचार्य श्रीमती सुषभा व्यास ने किया। कार्यक्रम में विद्यालय के अध्यापक, अध्यापिका एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Tags: saksharta shivir

Post your comment
Name
Email
Comment
 

रीवा

विविध