खास खबरें दर्शनार्थी द्वारा मन्दिर गार्ड के साथ मारपीट प्रकरण में एफआईआर दर्ज महाराष्‍ट्र : वर्धा के सैन्‍य डिपो में हुआ ब्‍लॉस्‍ट, 4 की मौत, 6 अन्‍य घायल इंडोनेशिया : मस्जिदों में नमाजियों को दिया जा रहा कट्टरता का पाठ -खुफिया एजेंसी महिला विश्व चैंपियनिशप में बॉक्सर मेरीकॉम ने पदक किया पक्‍का, सेमीफाइनल में किया प्रवेश उद्धव ठाकरे 50 हजार शिवसैनिकों के साथ करेंगे अयोध्‍या को कूच मेहंदी से लेकर शादी तक यहॉं देखें दीपवीर की तस्‍वीरें निफ्टी 10750 के नीचे, सेंसेक्स 100 अंक लुढ़का पीएम मोदी आज झाबुआ में करेंगे चुनावी सभा, ये चीजे ले जाना प्रतिबंधित गुरूग्राम : मासूम के साथ हैवानियत करने वाला दरिंदा पकड़ाया, दुष्‍कर्म के बाद प्राइवेट पाटर्स डाल दी लकड़ी कर्ज से दिलाता है मुक्ति भोम प्रदोष व्रत, जानें कथा .

नो इन्ट्री के समय में परिवर्तन, सड़कों से हटेंगे अतिक्रमण - श्री अनुराग

नो इन्ट्री के समय में परिवर्तन, सड़कों से हटेंगे अतिक्रमण - श्री अनुराग

Post By : Dastak Admin on 05-Aug-2018 18:40:51

sadak suraksha samiti

यातायात व सड़क सुरक्षा की बैठक में कोल ट्रांसपोर्टरों को कड़े निर्देश 
 
सिंगरौली | कलेक्ट्रेट सभागार में शनिवार को यातायात सुरक्षा समिति की बैठक कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी की अध्यक्षता एवं सिंगरौली विधायक माननीय रामलल्लू वैश्य, देवसर विधायक राजेन्द्र मेश्राम, मेयर श्रीमती प्रेमवती खैरवार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अजय पाठक, सीडा अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र मिश्रा एवं जिला पंचायत उपाध्यक्ष डॉ.रवीन्द्र सिंह तथा पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल, एडीएम श्रीमती ऋजु बाफना, एससपी प्रदीप शेन्डे, निगमायुक्त शिवेन्द्र सिंह, सिंगरौली एसडीएम राजेश शुक्ला के विशेष आतिथ्य में  बैठक आयोजित की गयी। 
    बैठक का एजेण्डा जिला परिवहन अधिकारी एस.पी.दुबे ने प्रस्तुत किया। बैठक की शुरूआत में 13 फरवरी 2018 की हुई यातायात समिति की बैठक में लिये गये निर्णय पर चर्चा की गयी। जिसमें एनसीएल के द्वारा बताया गया कि कुल बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार मेरे द्वारा 9 सितम्बर तक सड़क चौड़ीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। वहीं एस्सार पावर के द्वारा कोल बैठक के निर्देश का पालन नहीं करने पर कलेक्टर द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि एक सप्ताह के अंदर अपनी सड़कों को सही करावें। यदि कोई भी दुर्घटना होती है तो उसमें भी आपके ऊपर कानूनी कार्यवाही की जावेगी। साथ ही हिण्डालको एवं अन्य कंपनियों को निर्देश दिये गये कि अपने-अपने क्षेत्रों में स्पीड ब्रेकर एवं रिप्लेक्टर भी अंकित करायें ताकि स्पष्ट रूप से संकेत मालूम हो सके। वहीं कलेक्टर के द्वारा स्कूल बस मालिकों को निर्देशित किया गया है कि बसों में दिव्यांगों के लिए रैम्प हरहाल में बनवायें व बस स्टैण्ड में भी रैम्प होना आवश्यक है। वहीं कल रविवार को माजन मोड़ से सत्या होटल तक सड़क किनारे अनाधिकृत रूप से खडे वाहनों के खिलाफ हटाने की कार्रवाई की जायेगी। बैठक में सिंगरौली तहसीलदार विवेक गुप्ता, सीएसपी अनिल सोनकर, बैढन कोतवाली टीआई मनीष त्रिपाठी, नवानगर टीआई यूपी सिंह, विन्ध्यनगर टीआई संतोष तिवारी, सूबेदार दिलीप तिवारी सहित एनसीएल,एनटीपीसी,हिण्डालको, एस्सार,रिलायंस सहित अन्य विभागों के अधिकारी,कर्मचारी कोल ट्रांसपोर्टर मौजूद थे।  
नो इन्ट्री के समय में हुआ परिवर्तन 
    बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया कि बैढन शहर में हैवी वाहनों के आने-जाने के समय में परिवर्तन किया गया है। रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक  नो इन्ट्री में ढील रहेगी तथा दोपहर में 12 से 1 बजे तक एक घण्टे तक के लिए ही वाहन शहर में प्रवेश कर पायेंगे। वहीं टीआई यू.पी.सिंह के सुझाव पर माजन मोड़ से निगाही चौराहा तक आगामी 16 अगस्त से शहर की तरह नो इन्ट्री का समय तय रहेगा। देवसर, सरई में भी नो इन्ट्री के लिए समय तय किये जायेंगे। साथ ही बरगवां में वाहनों के सर्वे कराने के बाद नो इन्ट्री के संबंध में निर्णय लिया जायेगा। 
वाहन चालक शराब के नशे में मिले तो ट्रांसपोर्टर भी होंगे दोषी
    बैठक में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक के द्वारा कोल ट्रांसपोर्टरों तथा बस मालिकों को भी निर्देशित किया गया है कि यदि वाहन चलाते वक्त चालक शराब के  हालत में पाये गये तो चालकों के साथ-साथ ट्रांसपोर्टरों एवं वाहन मालिकों पर भी कानूनी कार्यवाही की जावेगी।  साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि जिस कोल वाहन के लिए मंजूरी पूर्व में ली गयी है वही कोल परिवहन करेंगे, अदला-बदली सिस्टम नहीं चलेगा। कोल वाहनों का स्पीड 40 किमी प्रति घण्टे से ज्यादा होती है तो कोल परिवहन के लिए मंजूरी नहीं दी जायेगी और उन पर भी कार्यवाही होगी और यदि इस दौरान सड़क दुर्घटना उक्त वाहनों से होता है तो वाहन चालकों के अलावा वाहन मालिक व ट्रांसपोर्टरों पर भी आपराधिक प्रकरण दर्ज होगा। 
माल वाहकों से मजदूरों का नहीं करेंगे अब परिवहन
    बैठक में कलेक्टर एवं एसपी के द्वारा जिला परिवहन अधिकारी व यातायात तथा समस्त प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि पिकअप, छोटा हाथी जैसे वाहनों से किसी भी हालत में श्रमिकों का परिवहन एक स्थान से दूसरे स्थान पर नहीं किया जायेगा। इसके लिए सघन अभियान चलाकर कार्रवाई करें। वहीं कलेक्टर ने एनएच-75 निर्माणाधीन फोरलेन के संविदाकार व एमपीआरडीसी के अधिकारियों से कार्य के प्रगति के बारे में जानकारी ली गयी। उन्हें निर्देशित किया गया है कि यदि उक्त मार्ग में दुर्घटना होती है तो संविदाकार को दोषी मानते हुए उस पर एफआईआर की कार्यवाही की जायेगी। 
कंपनियों में कार्यरत श्रमिकों के पीएफ अनिवार्य रूप से हों
    बैठक के दौरान कलेक्टर के द्वारा विभिन्न कंपनियों में कार्य कर रहे श्रमिकों के पीएफ को मद्देनजर रखते हुए कहा कि मेरे जनसुनवाई के दौरान कई ऐसे मजदूर आते हैं कि उनका न तो पीएफ मिलता है और न ही उनकी मजदूरी मिलती है। सभी कंपनियां यह सुनिश्चित करें कि अनिवार्य रूप से श्रमिकों का पीएफ हो और उन्हें समय पर मजदूरी का भुगतान करायें। बैठक के दौरान पीएफ जांच के लिए कलेक्टर द्वारा अपर कलेक्टर के नेतृत्व में टीम गठित करने के निर्देश दिये गये जो समय-समय पर मानीटरिंग करेगी। 
सोलर एवं आइडियल को एनसीएल कराये स्थापित 
    बैठक में कलेक्टर के द्वारा एनसीएल के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि आइडियल एवं सोलर ब्लास्टिंग कंपनी को अपने सीमा क्षेत्र में शिफ्ट करायें और जो बैठक में ब्लास्टिंग कंपनियों के अधिकारी नहीं पहुंचे हैं उनकी अलग से बैठक होगी। साथ ही ब्लास्टिंग कंपनियों के कंडम वाहनों को तत्काल हटायें। 

Tags: sadak suraksha samiti

Post your comment
Name
Email
Comment
 

सिंगरौली

विविध