खास खबरें वाट्सएप पर पोस्ट करने पर पटवारी की शिकायत, कलेक्टर ने उज्जैन किया अटैच पीएम मोदी ने की ट्विटर के सीईओ से मुलाकात, ट्विटर की तारीफ में बोले ये... अफरीदी ने इमरान को दी सलाह, कश्‍मीर को छोड़ पहले अपने 4 राज्‍य संभालें मिताली ने टी-20 में बनाया रिकॉर्ड, रोहित-विराट को भी पीछे छोड़ा राहुल गांधी की मौजूदगी में टिकट बंटवारे को लेकर पायलट और डूडी में कहासुनी लेक कोमो में सात जन्‍मों के बंधन में बंधे रणवीर-दीपिका, करण जौहर ने दी बधाई आज से दिल्‍ली में शुरू होगा ट्रेड फेयर, 18 से मिलेगी आम लोगों को एंट्री पीएम मोदी-राहुल गांधी 16 नवम्‍बर को मध्‍यप्रदेश के एक ही जिले करेगें रैलियां बहू और उसके परिजनों की प्रताड़ना से तंग आ ससुर खुद को गोली मार की आत्‍महत्‍या छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

विश्व स्तनपान सप्ताह का रैली निकालकर किया शुभारंभ

विश्व स्तनपान सप्ताह का रैली निकालकर किया शुभारंभ

Post By : Dastak Admin on 01-Aug-2018 22:06:18

विश्व स्तनपान सप्ताह

सीधी |  विश्व स्तनपान सप्ताह के प्रथम दिवस परियोजना सीधी 1 में सभी सेक्टर के आंगनवाड़ी केन्द्रों में रैली का आयोजन विधिवत् किया गया, ढोल, नगाड़े, मुनादी, नारे के माध्यम से जनसमुदाय को स्तनपान के महत्व के बारे में जानकारी दी गई। सेक्टर नगर पालिका के वार्ड क्रं. 10 में परियोजना अधिकारी डॉ. एस. एन.मिश्रा वार्ड पार्षद् शकुन्तला जायसवाल, प्रभात सिंह, ई.सी.सी.ई समन्वयक अर्चना पाण्डेय की एवं कार्यकर्ता उषा जायसवाल की उपस्थिति में रैंली का आयोजन कर हितग्राहियों एवं उपस्थित लोगों को स्तनपान के महत्व के बारे में जानकारी दी गई।
    इसी के साथ अन्य सभी वार्डों जिन में वार्ड 4, 6, 7, 13, 14, 18, 16, पटपरा 1, 2, 3, 4, बम्हनी 5, बारी 3, जौरोधा 1, 2, सलैया, पड़रियाकला, कोल्हूडीह, जमोड़ी, सोनवर्षा, कोठार, में कार्यकर्ता सहायिका द्वारा रैली का आयोजन सेक्टर पर्यवेक्षक एवं गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में किया गया।
    परियोजना अधिकारी डॉ.एस.एन. मिश्रा ने बताया कि स्तनपान सप्ताह 7 दिन का नही यह पूरे वर्ष चलनें वाला अनुष्ठान है, कुपोषण का एक बड़ा कारण बच्चों को स्तनपान न कराना है। इस बार स्तनपान का मुख्य उद्देश्य-‘‘कुपोषण के सभी प्रकारों का निवारण करना‘‘ है। स्तनपान कराने से होने वाले लाभ के बारें में जागरूकता पैदा करनें के साथ स्तनपान न होने के कारण होने वाली हानियों के बारें भी बताना जरूरी है। उन्होंने कहा कि धात्री माताओं का स्वयं का आहार भी पोष्टिक होना आवश्यक है।
    डॉ. मिश्रा ने बताया कि इस बार स्तनपान सप्ताह अंतर्गत विभिन्न गतिविधियां की जानी हैं। जिसमें आंगनवाड़ी स्तर पर किशोरी बालिकाओं द्वारा दीवार लेखन, रैली का आयोजन, नुक्क नाटक के माध्यम से स्तनपान का महत्व बनाना, गर्भवती महिलाओं के घर जाकर नवजात के जन्म के 1 घंटे के अंदर स्तनपान करानें की समझाइस शिशुवती माताओं के घर जाकर 6 माह तक अनिवार्यतः स्तनपान करानें की समझाइस, शंका समाधान, 6 माह तक के बच्चों के घर जाकर स्तनपान की स्थिति को बताना है। स्तनपान के दौरान आनें वाली समस्याओं व परेशानियों पर चर्चा जैसी अनेक गतिविधियां लगातार पूरे पखवाडे़ में प्रत्येक दिनों में की जानी है।

Tags: विश्व स्तनपान सप्ताह

Post your comment
Name
Email
Comment
 

सीधी

विविध