खास खबरें कालिदास समारोह स्थगित होने के आदेश जारी अनंत कुमार का अंतिम संस्कार आज, पीएम ने बेंगलुरु जाकर दी श्रद्धांजलि मार्वल कॉमिक्स के रियल लाइफ 'सुपरहीरो' स्टैन ली का निधन विराट कोहली खो बैठे थे अपना संयम - विश्‍वनाथन आनंद संघ को लेकर मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी में सियासी घमासान, शिवराज बोले 'कोई नहीं रोक सकता' सलमान खान करना चाहते थे जूही से शादी, लेकिन पिता ने ठुकरा दिया था प्रपोजल निफ्टी 10460 के पास, सेंसेक्स 95 अंक कमजोर सॉंप के डसने से हुई बुजुर्ग की मौत, जिंदा करने मुर्दाघर में चलती रही तंत्र क्रिया केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का आज बेंगलुरू में राजकीय सम्‍मान के साथ अंतिम संस्‍कार छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

छिंदवाड़ा जिले के फ्लोराइड क्षेत्र में मिलने लगा शुद्ध पेयजल

छिंदवाड़ा जिले के फ्लोराइड क्षेत्र में मिलने लगा शुद्ध पेयजल

Post By : Dastak Admin on 16-Feb-2018 16:38:46

शहडोल |



शहडोल | लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने छिंदवाड़ा जिले की फ्लोराइड की अधिकता वाली ग्रामीण बसाहट में शुद्ध पेयजल आपूर्ति की चुनौती को पूरा कर दिया है। यहां की आबादी को अब शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो रहा है, जिससे जन-स्वास्थ्य में सुधार परिलक्षित हो रहा है और ग्रामवासी प्रसन्न हैं। जिले में ग्रामीण पेयजल प्रदाय व्यवस्था भूमिगत जल स्त्रोतों पर आधारित है। भू-जल के अत्यधिक दोहन एवं जिले की भू-गर्भीय संरचना के परिणामस्वरूप पानी की गुणवत्ता पर बुरा असर पड़ा है। अनेक ग्रामीण बसाहटों में भू-जल में फ्लोराईड की मात्रा स्वीकार योग्य सीमा से अधिक पाये जाने के कारण ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल प्राप्त करने के लिये भटकना पड़ रहा था। कहीं-कहीं प्रदूषित पानी के सेवन के कारण जन-स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ा रहा था।  लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने जिले की फ्लोराइड प्रभावित बसाहटों में हैण्डपम्प आधारित 416 डी-फ्लोरिडेशन संयंत्रों की स्थापना करवाई है। संयत्रों का संधारण कार्य भी संबंधित एजेंसी के माध्यम से करवाया जा रहा है, जिससे दीर्घावधि तक शुद्ध पेयजल मिलना सुनिश्चित हो गया है। जिले में नल-जल प्रदाय योजना वाले 14 बड़े गांवो में फ्लोराईड प्रभावित योजना स्त्रोतों पर इलेक्ट्रोलाईटिक डी-फ्लोरिडेशन प्लाँट की स्थापना द्वारा शुद्ध पेयजल आपूर्ति बहाल की गई है। हैण्डपम्पों और पावर पम्पों पर स्थपित संयंत्रों के संधारण और उपचारित जल के प्रयोगशाला परीक्षण की भी नियमित व्यवस्था की गई है। पेयजल समस्याओं का समय पर निदान कर ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में पीएचई का अमला निरंतर प्रयासरत एवं सक्रिय है। इस कारण प्रभावित क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित हो रही है।
 

Tags: शहडोल |

Post your comment
Name
Email
Comment
 

शहडोल

विविध