खास खबरें कलेक्टर ने 5 व्यक्तियों को जिला बदर किया पत्नी को शॉपिंग के लिए बताया एटीएम का पिन, क्या आप बता सकते हैं वो 4 नंबर प्‍ले स्‍टोर पर गेम की जगह लोगों ने डाउनलोड कर लिया वायरस INDvsAUS पहला टी20: ये 12 खिलाड़ी बने टीम का हिस्‍सा, BCCI ने घोषित किया नाम सुषमा स्‍वराज के चुनाव नहीं लड़ने की बात पर बोले चिदंबरम 'बीजेपी की हालत देख छोड़ रही मैदान' प्रियंका ने दोस्‍तों को भेजी शादी की मिठाई, सामने आया वेडिंग कॉर्ड मार्क जुकरबर्ग नहीं देंगे फेसबुक के चेयरमैन पद से इस्‍तीफा मंच से बोली हेमा मालिनी 'ये बसंती की इज्‍जत का सवाल है' ओडिशा : भैंस बचाने में पुल से नीचे गिरी यात्रियों से भरी बस, 12 की हुई मौत हरि-हर मिलन: श्रीहरी को राजपाठ सौंपकर महादेव करते हैं तपस्या के लिए प्रस्थान

सोलन

सोलन

Post By : Dastak Admin on 09-Sep-2018 15:09:45

solan shimla

कालका शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित Solan लुभावना शहर एक एतेहासिक जगह है | अंग्रेजो ने सर्वप्रथम 1858 में यहाँ बीयर बनाने का कारखाना लगाया | यहाँ बेमौसमी सब्जियाँ और मशरूम काफी उगाये जाते है इसलिए इस शहर को भारत का खुम्भ शहर कहा जाता है | एशिया का पहला बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय भी इसी शहर में है |

सोलन के मुख्य दर्शनीय स्थल
बड़ोग – कालका शिमला रेलमार्ग पर स्तिथ यह शहर दो हिस्सों में विभाजित है | यह पर्यटन स्थल अपनी सुगंध भरी वायु के लिए प्रसिद्ध है | बड़ोग इस मार्ग की सबसे लम्बी सुरंग (3752 फीट) के लिए प्रसिद्ध है | पिकनिक मनाने के लिए उत्तम यह पयर्टन स्थल सोलन से 8 किमी दूर है |

करोल गुफा– शहर से 5 किमी दूरी पर स्थित यह गुफा 7000 फुट की उंचाई पर स्थित है | इसे हिमालय की सबसे पुरानी गुफा माना जाता है | आप यहाँ शिला , चैल एवं कसौली पर्यटन स्थलों के दृश्यों का आनन्द उठा सकते है |

पार्क एवं चिड़ियाघर – यह शहर अपने 3 पार्को एवं एक लघु चिड़ियाघर के लिए प्रसिद्ध है | मोहन पार्क अपनी मछली तालाब भित्तिचित्रों तथा मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है जबकि चिल्ड्रन पार्क बच्चो के आकर्षण का केंद्र है | जवाहर पार्क में हरे भरे लान , फूलो की आकर्षक क्यारियाँ तथा फव्वारे दर्शनीय है | जवाहर पार्क के एक हिस्से में लघु चिड़ियाघर है जहां जंगली बिल्ली जैसे दुर्लभ जानवर रखे गये है | एक ओर मृगशाळा है जहां का प्रमुख आकर्षण भौकने वाले हिरन है | इन पार्को एवं चिड़ियाघर में प्रवेश निशुल्क है |

कसौली – आकाश को छुते देवदार रंग -बिरंगे पुष्पों से आच्छादित जंगलो और मनोहारी दृश्य से परिपूर्ण स्थलों में कसौली का नाम प्रमुख रूप से आता है | अंग्रेजी शासनकाल के दौरान निर्मित एतेहासिक महत्व के भवन एवं केन्द्रीय अनुसन्धान संस्थान यहाँ का मुख्य आकर्षण है | यह पर्यटन स्थल सोलन से 25 किमी की दूरी पर है | कसौली से 4 किमी दूर सनावर नामक पर्यटन स्थल है जो अपने 150 वर्ष पुराने लोरेन्स स्कूल एवं चर्च के लिए प्रसिद्ध है | द्वीतीय विश्वयुद्ध के शहीद हुए शहर के कुछ निवासियों की स्मृति में यहाँ एक स्मारक का निर्माण भी किया गया है |

चैल – तत्कालीन पटियाला रियासत के शासको की सैरगाह रही यह नगरी अब एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है | देवदार के घने वन तथा उन में लुका छिपी करती दुधिया धुंध एवं विश्व का सबसे ऊँचा क्रिकेट मैदान यहाँ का प्रमुख आकर्षण है |

डगशाई – सोलन से 15 किमी दूर इस स्थल का एतेहासिक महत्व है |डगशाई की एतेहासिक जेल और यहाँ बना चर्च भारतीय स्वतंत्रता संग्राम तथा अंग्रेजी शासन की स्मृति चिन्ह के रूप में भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है |

अर्की – सोलन से लगभग 50 किमी दूर यह पर्यटन स्थल दुर्लभ भित्तिचित्रो के लिए प्रसिद्ध है | इस महल का निर्माण तत्कालीन बाघल रियासत के शासको ने 1640 ईस्वी के दौरान किया था | महल का दीवान खाना विशेष रूप से दर्शनीय है |

पहुचने के विविध मार्ग
रेलमार्ग – सोलन कालका जंक्शन से जुड़ा है इसलिए कालका देश के किसी भी हिस्से से रेल द्वारा जाया जा सकता है |

सडक मार्ग – यह दिल्ली से शिमला जाने वाले सडक मार्ग पर स्तिथ होने के कारण दिल्ली , चंडीगढ़ , अमृतसर , पठानकोट आदि निकटवर्ती शहरों से उत्तम बस सेवाए उपलब्ध है |

पर्यटन का उचित समय
सोलन पहाड़ के निचले हिस्से में स्तिथ होने के कारण यहाँ शिमला , धर्मशाला ,कुल्लू की अपेक्षा सर्दी काफी कम रहती है इसलिए यहाँ बरसात को छोडकर कभी भी जाया जा सकता है लेकिन मैदानी भागो की अपेक्षा यहाँ जनवरी-फरवरी में अधिक ठंड पडती है बाकी के मौसम सुहावने होती है |

Tags: solan shimla

Post your comment
Name
Email
Comment
 

भारत के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल

विविध