खास खबरें मुंबई की मॉडल ने महाकाल मंदिर समिति से मांगी माफी विजय माल्‍या-नीरव मोदी के बाद एक और कारोबारी देश से फरार मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने पर रोक लगाने इस देश में हो रही तैयारी 'गोल्‍डन ग्‍लोब' रेस में हिस्‍सा ले रहे भारतीय नौसेना के अभिषेक भीषण तूफान में फंसे, बचाव दल रवाना पाकिस्‍तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने राहुल गांधी को पीएम बनाने की तरफदारी सनी लियोन को मिला था 'गेम ऑफ थ्रोन्‍स' में काम करने का मौका, इसलिए कर दिया मना... सेंसेक्स 110 अंक , निफ्टी 11100 के नीचे मिंटो हॉल अन्तर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर के रूप में तैयार पति-पत्नि के बीच हुआ झगड़ा, पति ने की किस करने की कोशिश, पत्‍नी ने काट दी जीभ आज से शुरू होगा, पितृों का पूजन-तर्पण, पूर्णिमा का होगा पहला श्राद्ध

भारत के अलावा ये देश भी 15 अगस्‍त को मनाते है अपना स्‍वतंत्रता दिवस

भारत के अलावा ये देश भी 15 अगस्‍त को मनाते है अपना स्‍वतंत्रता दिवस

Post By : Dastak Admin on 16-Aug-2018 09:37:54

fact of independence day


 देश की आजादी की 72वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है. इस आजादी के पीछे की अनगिनत कहानियां भी हैं, लेकिन कुछ कहानियां काफी अलग और महत्वपूर्ण हैं. इसी संदर्भ में आइए हम जानते हैं 15 अगस्त से जुड़ी 10 खास बातें: 

1. आजादी 15 अगस्त को ही क्यों मिली
यूं तो भारत को गैर आधिकारिक तौर पर 18 जुलाई 1947 को ही आजादी मिल गई थी. लेकिन आधिकारिक तौर पर भारत को आजादी 15 अगस्त को देने का फैसला लॉर्ड माउंटबेटन का था. इस दिन को माउंटबेटन ने इसलिए चुना था क्योंकि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान के सरेंडर करने की दूसरी वर्षगांठ भी 15 अगस्त को ही थी.

2. पहली बार राष्ट्रीय झंडा कहां फहराया गया 
शायद आप सोच रहे होंगे कि पहली बार राष्ट्रीय झंडा लाल किले पर फहराया गया होगा, लेकिन ऐसा नहीं है. दरअसल, पहली बार झंडा 7 अगस्त 1906 को कोलकाता (तब कलकत्ता) के पारसी बागाना स्क्वॉयर में फहराया गया था.

3. तिरंगा तैयार करने का जिम्मा सिर्फ एक संगठन के पास
आपको यह सुनकर थोड़ा आश्चर्य हो रहा होगा, मगर यही हकीकत है. खादी डेवलपमेंट एंड विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन एकमात्र संगठन है जिसके पास राष्ट्रीय झंडा उत्पादन का लाइसेंस है. धारवाड़ में कर्नाटक खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ तिरंगा बनाता है.

4. आजादी के समय सोना
जब देश आजाद हुआ था जब सोने का भाव 88 रुपये 62 पैसे प्रति 10 ग्राम था. आज सोने का भाव 30,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के आस-पास है.

5. उस दिन और भी देश आजाद हुए
15 अगस्त को भारत के अलावा तीन अन्य देशों को भी आजादी मिली थी. इनमें दक्षिण कोरिया जापान से 15 अगस्त, 1945 को आज़ाद हुआ. ब्रिटेन से बहरीन 15 अगस्त, 1971 को और फ्रांस से कांगो 15 अगस्त, 1960 को आज़ाद हुआ था.

6. आजादी के समय कोई राष्ट्रगान नहीं था
भारत 15 अगस्त 1947 को आज़ाद तो जरूर हो गया था. लेकिन आपको जानकर अजीब लगे कि भारत का अपना कोई राष्ट्रगान नहीं था. इससे पहले रवींद्रनाथ टैगोर जन-गण-मन वर्ष 1911 में ही लिख चुके थे, लेकिन यह भारत का राष्ट्रगान 1950 में बन पाया.

7. लाल किले से झंडा अगले दिन फहराया गया 
यह परंपरा है कि स्वतंत्रता दिवस पर भारतीय प्रधानमंत्री लाल किले से झंडा फहराते हैं और राष्ट्रपति राजपथ पर. लेकिन 15 अगस्त, 1947 को ऐसा नहीं हुआ था. आपको बता दें, लोकसभा सचिवालय के एक शोध पत्र में कहा गया है कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 16 अगस्त, 1947 को लाल किले से झंडा फहराया था.

8. गोवा नहीं था स्वतंत्र भारत का हिस्सा
देश को इस दिन आजादी तो मिल गई थी, लेकिन वर्तमान राज्य गोवा तब भारत का हिस्सा नहीं था. तब यह पुर्तगालियों का उपनिवेश था और पुर्तगालियों ने अपने संविधान में संशोधन कर गोवा को अपना राज्य घोषित कर दिया. बाद में 19 दिसंबर 1961 को भारतीय सेना ने गोवा से पुर्तगालियों को खदेड़ दिया और इसे भारत में मिला लिया.

9. सेंट्रल हॉल में शपथग्रहण हुआ था
 आजादी के दिन यानी 15 अगस्त को दिन की शुरुआत सुबह 8.30 बजे हुई. तब की नई सरकार के लिए वायसरीगल लॉज (जिसे अब राष्ट्रपति भवन के नाम से जाना जाता है) में शपथग्रहण समारोह हुआ. जबकि नई सरकार ने सेंट्रल हॉल (आज जिसे दरबाल हॉल कहा जाता है) में शपथ ली थी. 

10. बंटवारे के बावजूद भारत-पाक के बीच रेखा निर्धारण तय नहीं था
  जैसा कि आप जानते हैं कि आजादी के साथ-साथ देश का बंटवारा हुआ और अलग देश पाकिस्तान बना. लेकिन 15 अगस्त को दोनों देशों के बीच सीमा रेखा का निर्धारण तब तक नहीं हो सका था. आजादी से दो दिन बाद यानी 17 अगस्त को इसका फ़ैसला रेडक्लिफ लाइन की घोषणा से हुआ.

Tags: fact of independence day

Post your comment
Name
Email
Comment
 

ज्ञान/ विज्ञान

विविध