खास खबरें तपोभूमि में हुई कल्याण मंदिर विधान की रचना अब प्राइवेट स्‍कूल-कॉलेजों में भी मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ सीरिया में पड़ रही मौसम की मार, कड़ाके की ठण्‍ड से 15 बच्‍चों की मौत मनु साहनी बने आईसीसी के नए सीईओ सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के अपनी ही पार्टी के लिए बगावती बोल, कहा- पार्टी में अब 'तानाशाही' अंकिता लोखंडे ने इजहार, बोलीं- 'हां मैं प्यार में हूं' शीर्ष 100 ग्लोबल थिंकर्स की सूची में भारतीय मुकेश अंबानी का नाम मीजल्स की बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा कर्नाटक : दो निर्दलीय विधायकों ने लिया समर्थन वापस, सीएम कुमार स्‍वामी बोले- मेरी सरकार स्थिर धर्म का चोला पहनकर अधर्म करने वाला होता है महान अपराधी

धर्म का चोला पहनकर अधर्म करने वाला होता है महान अपराधी

धर्म का चोला पहनकर अधर्म करने वाला होता है महान अपराधी

Post By : Dastak Admin on 15-Jan-2019 08:03:38

shri ram katha


श्रीराम कथा में बोली साध्वी मीरा दीदी
उज्जैन। धर्म का चोला पहनकर उस चोले की आड़ में अधर्म करता है उसका पाप वज्र के समान हो जाता है वो महान अपराधी होता है उसे भगवान कभी क्षमा नहीं करते, कई लोग यह भ्रांति फैला देते हैं कि गंगाजी में स्नान कर लो तो पाप धुल जाएंगे, तीर्थ कर लो तो पाप नहीं लगेंगे। जो पाप किया है उसका फल तो तुम्हें भोगना ही होगा। 
उक्त बात तराना रोड़ स्थित ग्राम गुनाई खालसा में आयोजित संगीतमय श्रीराम कथा में कथावाचक साध्वी मीरा दीदी ने कही। श्रीराम कथा में सोमवार को दीदी ने भगवान श्रीराम के जन्म की कथा सुनाते हुए कहा कि संसार में जन्म लेने पर रोना पड़ता है नही रोओ तो डॉक्टर थप्पड़ मारकर रुलाता है, अपशकुन माना जाता है, कहा जाता है बच्चे में कोई डिफेक्ट है। लेकिन जब भगवान राम का जन्म हुआ तो वे मुस्कुराके हुए आए लेकिन संसार को खुशी देने के लिए भक्तों को प्रसन्नता देने के लिए वे रोए। भगवान को सब आता है लेकिन रोना नही आता। फिर भी संसार मे जब जन्म लिया तो भक्तों के लिए उन्होंने रोना स्वीकार किया। कथा में राम जन्मोत्सव मनाया गया, भक्तों पर फूलों की बारिश की गई, चारो तरफ आनंद की लहर छा गई और अवध में आनंद भयो जय हो राघव लाल की तथा भय प्रगट कृपाला दिन दयाला कौशल्या हितकारी जैसे भजनों पर भक्त जमकर झूमे। कथा समापन पर आरती पूर्व मंडी अध्यक्ष बहादुरसिंह बोरमुंडला ने की। समस्त ग्रामवासियों द्वारा ग्राम गुनाई खालसा में आयोजित श्री राम कथा की पूर्णाहुति 20 जनवरी को होगी। प्रतिदिन यहां दोपहर 12 से 3 बजे तक श्रीराम कथा का आयोजन हो रहा है। 

Tags: shri ram katha

Post your comment
Name
Email
Comment
 

धर्म

विविध