खास खबरें तपोभूमि में हुई कल्याण मंदिर विधान की रचना अब प्राइवेट स्‍कूल-कॉलेजों में भी मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ सीरिया में पड़ रही मौसम की मार, कड़ाके की ठण्‍ड से 15 बच्‍चों की मौत मनु साहनी बने आईसीसी के नए सीईओ सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के अपनी ही पार्टी के लिए बगावती बोल, कहा- पार्टी में अब 'तानाशाही' अंकिता लोखंडे ने इजहार, बोलीं- 'हां मैं प्यार में हूं' शीर्ष 100 ग्लोबल थिंकर्स की सूची में भारतीय मुकेश अंबानी का नाम मीजल्स की बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा कर्नाटक : दो निर्दलीय विधायकों ने लिया समर्थन वापस, सीएम कुमार स्‍वामी बोले- मेरी सरकार स्थिर संगम का पहला स्नान, उमड़ रहा जनसैलाब

रबड़ी पराठे

रबड़ी पराठे

Post By : Dastak Admin on 29-Aug-2018 08:10:27

rabdi parathe


इसके लिए 500 ग्राम गेहूं का आटा, एक लीटर दूध, 500 ग्राम चीनी, आधा छोटा चम्मच इलायची का पाउडर, 10 बादाम (बारीक कटे हुए), 5 से 7 केसर के धागे
10 पिस्ता (बारीक कटे हुए), 10 काजू (बारीक कटे हुए), एक छोटा कटोरी नारियल बूरा 
आधा लीटर घी, पानी लीजिए। 

- सबसे पहले धीमी आंच में एक कड़ाही दूध डालकर उबलने के लिए रखें। जब दूध में उबाल आने लगे तो कड़छी से चलाते हुए गाढ़ा होने तक चलाते हुए पकाएं।
 
- जब दूध की मात्रा 1/3 रह जाए, तब इसमें चीनी डाल दें, इसके बाद इसमें इलायची पाउडर, बादाम , पिस्ता, काजू और केसर डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें।

- जब दूध में मलाई की गुठलियां पड़ जाएं तो आंच बंद कर दें। तैयार रबड़ी को एक बर्तन में निकाल लें और ठंडा होने के बाद फ्रिज में रख दें।

- अब एक दूसरी कड़ाही में घी डालकर गरम होने के लिए रखें।  जब तक घी गरम हो रहा है तब तक आटा गूंद लीजिए, फ्रिज से रबड़ी निकाल लें।

- अब आटे की लोई लेकर एक रोटी बेल लें. फिर दूसरी लोई से रोटी बेल लें, अब पहली रोटी पर 2-3 चम्मच रबड़ी डालकर फैलाएं। फिर इस पर दूसरी रोटी रखें और किनारों को मोड़ते हुए पराठा पैक कर लें। आप चाहें तो गुझिया कटर से भी पराठे के किनारों को काट सकते हैं। ध्यान रखें कि रबड़ी पतली नहीं होना चाहिए।

- तैयार पराठे को तेल में डालकर तल लें, जब तक पराठा सिंक रहा है तब तक दूसरा पराठा तैयार कर लें। पराठे को पलटकर दूसरी तरफ तल लें, तैयार पराठे को प्लेट पर निकालें और बीच से काटकर सर्व करें व खुद भी खाएं।

Tags: rabdi parathe

Post your comment
Name
Email
Comment
 

व्यंजन

विविध