खास खबरें विकासखण्ड स्तर पर आयोजित रोजगार मेले में 400 युवाओं का हुआ पंजीयन सुप्रीम कोर्ट में राफेल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई 26 को पुलवामा हमला : दबाव में आया पाकिस्‍तान ने जैश-ए-मोहम्मद के मुख्‍यालयों का नियंत्रण अपने हाथ में लिया यहॉ शुरू होगा नये नियमों वाला क्रिकेट, टूर्नामेंट में खेली जाएंगी 100 बॉल पीएम मोदी आज राजस्‍थान में करेंगे करेंगे रैली, टोंक से करेंगे चुनावी अभियान की शुरूआत 'दिल चोरी साडा़ हो गया' को मिला सॉन्‍ग ऑफ दि ईयर का अवॉर्ड पीएफ पर बढ़ी ब्‍याज दर, नौकरीपेशा को होगा इतना लाभ MP: प्रशासनिक सर्जरी, राज्य प्रशासनिक सेवा के 47 अधिकारियों के तबादले PRC : अरूणाचल प्रदेश के ईंटानगर में भड़की हिंसा, इंटरनेट बंद संकष्टी चतुर्थी : श्री गणेश दूर कर देते है जीवन के सारे विघ्‍न

सुप्रीम कोर्ट में राफेल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई 26 को

सुप्रीम कोर्ट में राफेल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई 26 को

Post By : Dastak Admin on 23-Feb-2019 17:12:14

Rafel dicision, supreme court

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट राफेल फैसले पर पुनर्विचार की मांग को लेकर दायर दो याचिकाओं पर 26 फरवरी को सुनवाई करेगा। 14 दिसंबर को शीर्ष कोर्ट ने भारत और फ्रांस के बीच हुए 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीद सौदे को चुनौती देने वाली याचिकाओं को खारिज कर दिया था। पुनर्विचार याचिकाएं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी के अलावा वकील प्रशांत भूषण ने दायर की हैं। सुनवाई खुली अदालत की जगह चैंबर में होगी।
तीनों ने कहा है कि शीर्ष कोर्ट ने सरकार द्वारा किए गए स्पष्ट रूप से गलत दावे पर भरोसा किया। सरकार ने कोर्ट में सील बंद लिफाफे में एक अहस्ताक्षरित नोट सौंपा था। सिन्हा, शौरी और भूषण ने दावा किया है कि फैसला रिकार्ड पर रखे गए स्पष्ट चूक पर आधारित है। बाद में सामने आई सूचनाओं पर विचार नहीं करना न्याय की गंभीर चूक मानी जाएगी। फैसले पर पुनर्विचार के अलावा तीनों ने खुली अदालत में सुनवाई की मांग की है।
शीर्ष कोर्ट आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह की अर्जी की भी सुनवाई करेगा। सांसद ने वकील धीरज सिंह के माध्यम से पुनर्विचार याचिका दायर की है।
14 दिसंबर को शीर्ष कोर्ट ने सौदे को चुनौती देने वाली विभिन्न याचिकाओं को खारिज कर दिया था। कोर्ट ने कहा था कि खरीद प्रक्रिया पर संदेह की कोई गुंजाइश नहीं है। इसके साथ ही कोर्ट ने एफआइआर दर्ज करने और अपनी निगरानी में 58000 करोड़ रुपये के सौदे में हुई अनियमितता की जांच कराने की मांग भी ठुकरा दी थी।

 

Tags: Rafel dicision, supreme court

Post your comment
Name
Email
Comment
 

राष्ट्रीय

विविध