खास खबरें दक्षिण ग्रामीण कार्यालय के शुभारंभ पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने ग्रहण की कांग्रेस की सदस्यता विदेशी फंडिंग से घाटी में तैयार हो रहे है आतंकी - सेना प्रमुख जापान : स्कूल टीचर ने की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस होलोग्राम से शादी बॉक्सिंग के खिलाडि़यों को दिल्‍ली की हवा में हो रही सांस लेने में दिक्‍कत तेलंगाना में कांग्रेस की पहली सूची जारी, 65 प्रत्‍याशियों के नाम शामिल लगता बदल रहे है कपिल शर्मा के दिन, हॉलीवुड से मिला ऑफर निफ्टी 10460 के पास, सेंसेक्स 95 अंक कमजोर आचार संहिता के 35 दिनों में अब-तक लगभग 50 करोड़ की सामग्री और नगदी जब्त : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी टीचर नें छात्र की इतनी बेरहमी से की पिटाई की छात्र को मार गया लकवा, कसूर सिर्फ ड्राइंग बुक पूरी नही की.. आज मिलेगा श्री गणेश से सौभाग्‍य का वरदान, लाभ पंचमी पर ऐसे करें विघ्‍नहर्ता की पूजा

हिंदू समाज तभी प्रगति करेगा, जब वह समाज के रूप में काम करेगा।-मोहन भागवत

हिंदू समाज तभी प्रगति करेगा, जब वह समाज के रूप में काम करेगा।-मोहन भागवत

Post By : Dastak Admin on 08-Sep-2018 11:52:53

mohan bhagwat, world hindu congress


शिकागो.  आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा, "हिंदू कभी साथ नहीं आते। उनका एक साथ आना मुश्किल है। हिंदू हजारों सालों से प्रताड़ित हो रहे हैं, क्योंकि वे अपने मूल सिद्धांतों को पालन करना और आध्यात्मिकता को भूल गए हैं। हमें साथ आना होगा। हिंदू समाज तभी प्रगति करेगा, जब वह समाज के रूप में काम करेगा।" 

शिकागो में स्वामी विवेकानंद के 11 सितंबर 1893 को दिए गए चर्चित भाषण के 125 साल पूरे होने पर विश्व हिंदू कांग्रेस का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि हिंदू किसी का विरोध करने के लिए नहीं जीते हैं, लेकिन कुछ लोग भी हो सकते हैं, जो हिंदुओं का विरोध करते हैं। हिंदू समाज में प्रतिभाशाली लोगों की तादाद सबसे ज्यादा है। 

वेंकैया नायडू, दलाई लामा भी शामिल होंगे: इस कार्यक्रम में मोदी सरकार में नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया भी मौजूद रहे। वहीं, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, अभिनेता अनुपम खेर, आरएसएस के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले, इंफोसिस के पूर्व डायरेक्टर टीवी मोहनदास पाई, बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा भी शामिल होंगे।

Tags: mohan bhagwat, world hindu congress

Post your comment
Name
Email
Comment
 

राष्ट्रीय

विविध