खास खबरें न्यायालयीन प्रकरणों में समय-सीमा में जवाब प्रस्तुत किया जाये डूडल कर रहा मतदान के लिए लोगों को प्रेरित अमेरिका में आज जारी होगी रूसी दखल की जांच से जुड़ी मुलर रिपोर्ट भारतीय टीम के चयन पर बोले रवि शास्‍त्री 'मैं 16 खिलाडियों की टीम चुनता', खिलाडियों को दी निराश न होने की सलाह जेल के दिन याद करके रोई साध्‍वी प्रज्ञा, बोली-पीटने वाले बदलते थे पर पिटने वाली मैं वही रहती थी दो साल तक स्‍क्रीन से इसलिए गायब रहे आदित्‍य रॉय कपूर सोने की कीमत में गिरावट का दौर जारी विज्ञापन ‘‘चौकीदार चोर है‘‘ पर लगी रोक वाराणसी में मोदी के खिलाफ उतर सकती है प्रियंका गांधी, राहुल बोले-सस्‍पेंस बुरा नहीं हनुमान जी के इन मंत्रों का पाठ करने से मिलती है शारीरिक पीड़ा से मुक्ति

जेल के दिन याद करके रोई साध्‍वी प्रज्ञा, बोली-पीटने वाले बदलते थे पर पिटने वाली मैं वही रहती थी

जेल के दिन याद करके रोई साध्‍वी प्रज्ञा, बोली-पीटने वाले बदलते थे पर पिटने वाली मैं वही रहती थी

Post By : Dastak Admin on 18-Apr-2019 20:40:29

sadhvi pragya gets emotional to remember jail days


उन्होंने पुलिस की पिटाई की बात करते हुए कहा कि दिन और रात पीटते थे। मैं आपको अपनी पीड़ा नहीं बता रही हूं। लेकिन इतना कह रही हूं कि कोई महिला कभी इस पीड़ा का सामना न करे। पीटते, पीटते गंदी गालियां देते थे।  वो कहलवाना चाहते थे कि तुमने एक विस्फोट किया है और मुस्लिमों को मारा है। सुबह हो जाती थी पिटते-पिटते, पीटने वाले लोग बदल जाते थे लेकिन पिटने वाली मैं सिर्फ अकेले रहती थी। 

तफसील से पुलिस टॉर्चर की जानकारी देते-देते साध्वी प्रज्ञा के आंसू बह निकले। उन्होंने कुछ पल ठहरकर अपने भगवा चोले से आंसू पोंछे और आगे की बात बताई। 
 
ये पहली बार है, जब बुधवार को उम्मीदवारी की औपचारिक घोषणा के बाद साध्वी ने आज स्थानीय लोगों के बीच सभा की हो। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को सितंबर 2008 में हुए मालेगांव धमाकों के मामले में गिरफ्तार किया गया था। अप्रैल 2017 में एनआईए के एतराज न करने पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी। फिलहाल वो जमानत पर हैं।

भोपाल में साध्वी का मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से है। दिग्विजय ने बुधवार को ट्विटर के जरिए साध्वी की उम्मीदवारी का स्वागत किया था। 

भोपाल लोकसभा सीट पर 1984 के बाद से लगातार भाजपा का कब्जा रहा है। ऐसे में दिग्विजय के सामने चुनौती कड़ी है। भाजपा ने दिग्विजय की छवि के सामने साध्वी की छवि खड़ी कर दी है, जिसने इस पूरे मुकाबले को बेहद दिलचस्प बना दिया है। 

भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर आज एक कार्यक्रम में बोलते-बोलते भावुक हो गईं। उन्होंने पुलिस हिरासत में रहने के दौरान टॉर्चर की बात कही। 

Tags: sadhvi pragya gets emotional to remember jail days

Post your comment
Name
Email
Comment
 

राजनीति

विविध