खास खबरें वाट्सएप पर पोस्ट करने पर पटवारी की शिकायत, कलेक्टर ने उज्जैन किया अटैच पंडित नेहरू की जयंती पर सोनिया गांधी और मनमोहन समेत कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि अमेरिका : कैलिफोर्निया में लगी भीषण आग में अब तक हुई 44 की मौत, कई सेलिब्रिटीज के घर भी जले विराट कोहली खो बैठे थे अपना संयम - विश्‍वनाथन आनंद राहुल गांधी की मौजूदगी में टिकट बंटवारे को लेकर पायलट और डूडी में कहासुनी दीपिका के परिवार ने नारियल दे किया रणवीर का स्‍वागत, कोंकणी रिवाज से हुई सगाई आज से दिल्‍ली में शुरू होगा ट्रेड फेयर, 18 से मिलेगी आम लोगों को एंट्री पीएम मोदी-राहुल गांधी 16 नवम्‍बर को मध्‍यप्रदेश के एक ही जिले करेगें रैलियां केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का आज बेंगलुरू में राजकीय सम्‍मान के साथ अंतिम संस्‍कार छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

तेलंगाना में तेदेपा ने कांग्रेस से मिलाया हाथ, लेफ्ट भी हुआ साथ, कर रहे राष्‍ट्रपति शासन की मांग

तेलंगाना में तेदेपा ने कांग्रेस से मिलाया हाथ, लेफ्ट भी हुआ साथ, कर रहे राष्‍ट्रपति शासन की मांग

Post By : Dastak Admin on 12-Sep-2018 09:56:58

telangana, tdp meets with congress


हैदराबाद.   तेलुगु देशम पार्टी और कांग्रेस ने तेलंगाना में पहली बार विधानसभा चुनाव साथ लड़ने का फैसला किया है। लेफ्ट पार्टियां भी उनके साथ आ गई हैं। तीनों पार्टियों के नेताओं ने मंगलवार को पहले दौर की बैठक के बाद राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात की और राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की अपील की। तेलंगाना राष्ट्र समिति प्रमुख और कार्यवाहक मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने पिछले दिनों विधानसभा भंग कर दी थी। ऐसा कहा जा रहा है कि राज्य में दिसंबर तक चुनाव हो सकते हैं।

कांग्रेस, तेदेपा और लेफ्ट के नेताओं का कहना है कि चंद्रशेखर राव राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं। ऐसे में निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकते। राष्ट्रपति शासन के बाद ही राज्य में चुनाव कराए जाएं। तेलुगू देशम पार्टी के 35 साल के इतिहास में यह पहला मौका है, जब उसने किसी राज्य में कांग्रेस के साथ हाथ मिलाया है। टीआरएस ने विधानसभा भंग करने के कुछ देर बाद 105 उम्मीदवारों की घोषणा भी कर दी थी।

'टीआरएस-भाजपा को हराना है': कांग्रेस नेता उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा- "वे टीआरएस और भाजपा को हराने करने के लिए सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, अभी सीटों के बंटवारे पर बात होना बाकी है।" कांग्रेस के तेलंगाना प्रभारी आरसी खुंटिया ने कहा- "तेदेपा से हमारी कभी कड़वाहट नहीं रही।" तेदेपा आंध्र को विशेष पैकेज की मांग पर एनडीए से अलग हो गई थी। नायडू पिछले दिनों कई मौकों पर कांग्रेस के साथ नजर आए।

विधानसभा भंग: तेलंगाना में पहली विधानसभा के लिए मई 2014 में चुनाव हुए थे। ऐसे में विधानसभा का कार्यकाल मई 2019 में पूरा होता है। राव साल के अंत में होने वाले 4 राज्यों के चुनाव के साथ ही तेलंगाना में चुनाव चाहते हैं। चंद्रशेखर राव ने जल्द चुनाव कराने के लिए 6 सितंबर को विधानसभा भंग कर दी थी। विपक्षी दलों ने टीआरएस के इस फैसले को लोकतंत्र के खिलाफ बताया था। 

ओवैसी ने चुनाव टालने की अपील की: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इलेक्शन कमीशन से जल्द चुनाव नहीं कराने की मांग की है। ओवैसी ने कहा कि राज्य की जनता अभी सरकार चाहती है।

Tags: telangana, tdp meets with congress

Post your comment
Name
Email
Comment
 

राजनीति

विविध