खास खबरें 2011 में की थी शहर में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा की मांग विदेश मंत्रालय की निगरानी में आयोजित होगा प्रवासी भारतीय में 'स्‍पेशल 65' संग भोज, पीएम मोदी करेंगे शिरकत सीरिया में पड़ रही मौसम की मार, कड़ाके की ठण्‍ड से 15 बच्‍चों की मौत मनु साहनी बने आईसीसी के नए सीईओ सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के अपनी ही पार्टी के लिए बगावती बोल, कहा- पार्टी में अब 'तानाशाही' सरेआम हुई दीपक कलाल की पिटाई, राखी सावंत ने किया था शादी का ऐलान फिर बढ़े तेल के दाम, पेट्रोल आज हुआ इतना महंगा मीजल्स की बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा गुजरात : गांधीनगर में आज पीएम मोदी सहित मेगा ट्रेड शो में हिस्‍सा लेंगे 125 देशों के प्रतिनिधि और दिग्‍गज उद्योगपति पौष मास की पुत्रदा एकादशी का व्रत रखने से मिलता है संतान प्राप्ति का वरदान

नगर निगम सीमा क्षेत्र में सुअर पालन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा

नगर निगम सीमा क्षेत्र में सुअर पालन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा

Post By : Dastak Admin on 06-Sep-2018 21:32:23

pig farming is banned


कलेक्टर डॉ. पांडेय ने धारा-144 के तहत जारी किए आदेश 
देवास | कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ. श्रीकांत पांडेय ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के तहत जन सामान्य के हित/स्वास्थ्य एवं लोक शांति बनाए रखने के दृष्टिगत रखते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है कि नगर पालिका सीमा क्षेत्र सुअर पालन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। सुअर पालक अपने स्वामित्व के सुअरो को किसी भी परिस्थिति में खुला विचरण हेतु नहीं छोड़ेंगे। आवारा सुअरों को पकड़े जाने संबंधी किसी भी प्रशासनिक कार्यवाही में बाधा नहीं करेंगे। सुअरो के नगर सीमा क्षेत्र व बिना अनुमति के किसी को पालन पालन की स्थिति में आयुक्त नगर निगम के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करेंगे। प्रतिबंधात्मक आदेश जारी होने की तिथि से 7 दिवस के भीतर सभी सुअर पालक, सुअरो को नगर से बाहर किया जाना सुनिश्चित करें। 
   कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. पांडेय ने आदेशित किया है कि जन सामान्य व सुअर पालकों को उक्त सूचना की तामिली कर सुनवाई की जा सके। यह आदेश दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 (2) के अंतर्गत एक पक्षीय रूप से पारित की गई है। अत्यंत विशेष परिस्थितियों में होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्त से छूट दे सकेंगे। यदि कोई उपर्युक्त आदेश का उल्लंघन करेगा तो वह भारतीय दंड संहिता के प्रावधानों के तहत अभियोजन किया जाएगा। कलेक्टर ने आदेश दिए हैं कि इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय अपरोह होगा। यह आदेश 30 अगस्त 2018 से प्रभावशील हो गया है जो कि आगामी 2 माह तक प्रभावशील रहेगा।
   नगर निगम सीमा क्षेत्र में जन सामान्य के हित/स्वास्थ्य एवं लोक शांति को बनाए रखने के लिए दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 लागू की है। कलेक्टर डॉ. पांडेय ने धारा-144 आयुक्त नगर निगम देवास के प्रतिवेदन पर लगाई है। आदेश में उल्लेखित हैं कि प्रबल आशंकाओं के कारण जनसामान्य के जानमाल एवं स्वास्थ्य को खतरा उत्पन्न हो गया है तथा भविष्य में इन कारणों से लोक शांति विक्षुब्ध होने की प्रबल संभावनाएं भी व्याप्त हो रही है। अत: इन पर अंकुश लगाए जाने की आवश्यकता के दृष्टिगत रखते हुए दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत आदेशित किया है।
   जारी आदेश में बताया गया है कि नगर निगम सीमा में कई लोगों द्वारा सुअर पालन का कार्य किया जा रहा है, जो नगर निगम सीमा क्षेत्र के किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। सुअरों द्वारा गदंगी किए जाने से स्वाईन फ्लू, निपाहा एवं स्केरियेसिस जैसी खतरनाक बीमारियों से आम जनता के स्वास्थ्य को खतरा होता है। सुअरों से आमजन को काफी परेशानियों हो रही है। पूर्व में सुअरों के बाड़ों के तोड़ने की कार्यवाही कर सुअरों को शहर से बाहर करने का उल्लंघन सुअर पालकों से किया गया है, किंतु वे अभी इसका पालन नहीं कर रहे हैं। अवैध सुअर पालन एवं शहर के आवारा रूप से सुअरों के घूमने के लिए छोड़ने की गतिविधियों को प्रतिबंधित किया गया है।

Tags: pig farming is banned

Post your comment
Name
Email
Comment
 

देवास

विविध