खास खबरें मोगली बाल उत्सव- 2018, एप्को में राज्य स्तरीय ट्रेनर एवं क्विज मास्टर प्रशिक्षण कार्यक्रम आज रेवाड़ी गैंगरेप काण्‍ड के दो अन्‍य आरोपी SIT की गिरफ्त में राफेड विवाद में पाक ने अड़ाई अपनी टांग, कहा- सरकार कर रही पीएम मोदी को बचाने की कोशिश खेल मंत्रालय ने दी सफाई, विराट कोहली को क्‍यों चुना गया 'खेल रत्‍न' के लिए समाजवादी पार्टी की ‘सामाजिक न्याय व लोकतंत्र बचाओ’ यात्रा पहुँची जंतर-मंतर, पार्टी संस्थापक और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने भरी हुंकार सनी देओल-साक्षी तंवर स्‍टॉरर 'मोहल्‍ला अस्‍सी' आखिरकार इस दिन होगी रिलीज मुंबई में पेट्रोल के दाम पहुँचे 90 रूपये के करीब राष्ट्रीय स्कॉलरशिप परीक्षाओं के आवेदन की अंतिम तिथि 25 सितम्बर आंध्रप्रदेश : नक्‍सलियों ने की टीडीपी के विधायक और पूर्व विधायक की हत्‍या क्‍यों मनाई जाती है अनंत चतुदर्शी, क्‍या है अंनतसूत्र का महत्‍व

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनाओं पर मीडिया कार्यशाला आयोजित की गई

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनाओं पर मीडिया कार्यशाला आयोजित की गई

Post By : Dastak Admin on 29-Aug-2018 22:34:08

beti bachao beti padao

 

रतलाम |  जिला महिला बाल विकास विभाग द्वारा आज बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना पर एक मीडिया कार्यशाला आयोजित की गई। इस अवसर पर मौजूद मीडियाजनों को योजनाओं की जानकारी के साथ ही मैदानी स्तर पर किए जा रहे अमल तथा एक्शन प्लान से अवगत कराया गया। कार्यशाला में कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास सुश्री सुषमा भदौरिया, सहायक संचालक सुश्री अंकिता पंड्या, मीडिया प्रभारी श्री आशीष चौरसिया, सीडीपीओ श्री बी.एल. मालवीय, श्रीमती रेखा व्यास, सुश्री वर्षा सोलंकी, श्रीमती भावना अरोड़ा, श्री प्रफुल्ल भट्ट, सुश्री शकुन्तला मिश्रा, सुश्री एहतेशाम अंसारी तथा मीडियाजन उपस्थित थे।
    कार्यशाला में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की जानकारी देते हुए बताया गया कि आगामी सितंबर माह में राष्ट्रीय पोषण सप्ताह आयोजनों के तहत जनसामान्य को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की शपथ खंड स्तर तथा परियोजना स्तर पर दिलाई जाएगी। इसकी प्रमुख गतिविधियों में आंगनवाड़ी तथा स्कूलों में बालिकाओं के शत-प्रतिशत पंजीयन करने पीसीपीएनडीटी एक्ट की जानकारी महिलाओं को देने आंगनवाडी पंचायतों के स्तर पर जन्मोत्सव मनाने, संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने, बालिका स्वास्थ्य के लिए स्तनपान को बढ़ावा देने जैसी गतिविधियां की जाएंगी।
    इसके अलावा कुपोषित बालिकाओं को एनआरसी में भर्ती कराने माताओं को बालिकाओं की देखभाल के लिए बढ़ावा देने, सोशल मीडिया में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान का प्रचार प्रसार करने, कम लिंगानुपात वाले गांव में नारी की चौपाल, मन की बात का आयोजन एवं शपथ आगामी सितंबर माह के दौरान पोषण सप्ताह में किया जाएगा। नुक्कड़ नाटक बेटी बचाओ बेटी-पढ़ाओ की फिल्म के माध्यम से जनजागरूकता उत्पन्न की जाएगी।
    कार्यशाला में जिला कार्यक्रम अधिकारी सुश्री भदौरिया ने बताया कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत जिले में आशा शिक्षक पालक संघ, स्वयं सहायता समूह के माध्यम से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को बढ़ावा दिया जाएगा। लिंगानुपात में सुधार करना भी लक्ष्य में सम्मिलित हैं। इसके अलावा बच्चों के जन्म पर हर माह गुड्डा-गुड़िया बोर्ड पर प्रदर्शित करने, लाड़ली लक्ष्मी योजना में पात्र बालिकाओं को शत-प्रतिशत लाभ देने, बालिका शिक्षा एवं पोषण पर ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा। यह विशेष ग्राम सभाएं सितंबर के प्रथम सप्ताह में होंगी। स्कूलों में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की रैली का आयोजन, निबंध एवं ड्राइंग प्रतियोगिता भी आयोजित की जाएंगी।
    कार्यशाला में बताया गया कि रतलाम जिले में वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्र में प्रति 1 हजार बालकों पर 939 बालिकाएं हैं, शहरी क्षेत्र में प्रति 1 हजार बालकों पर 937 बालिकाएं हैं। यह आंकड़ा 0 से 6 वर्ष के आयु समूह का है, जिले के कम लिंगानुपात वाले गांव की जानकारी में बताया गया कि ऐसे 215 गांव है जहां प्रति 1 हजार बालकों पर बालिकाओं की संख्या 800 से कम है। इसके अलावा 70 ऐसे भी गांव है जहां प्रति 1 हजार बालकों पर बालिकाओं की संख्या 700 से कम है। कार्यशाला में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की जानकारी तथा इसके लक्ष्य व पूर्ति के संबंध में  अवगत कराया गया।

Tags: beti bachao beti padao

Post your comment
Name
Email
Comment
 

रतलाम

विविध