खास खबरें बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम से 24-25 को बारिश के आसार जेट की फ्लाइट में कैबिन प्रेशर कम हुआ, यात्रियों के नाक-कान में आने लगा खून खाने से डर रहे है लोग, फलों में निकली रही है सुईयॉं एशिया कप : भारत ने पाकिस्‍तान को मात, 8 विकेट से रौंदा भोपाल में भाजपा कार्यकर्ता के महाकुंभ में आएंगे पीएम मोदी बेटी पूजा-आलिया के साथ महेश भट्ट फिर से बनाएंगे फिल्‍म 'सड़क' अब नौकरी जाने पर सरकार देगी पैसा, सीधे आऐगा आपके बैंक खाते में धान के समर्थन मूल्य पर इस वर्ष भी दिया जायेगा बोनस : मुख्यमंत्री श्री चौहान यूपी में दिमागी बुखार ने ली अब 71 जानें क्‍यों मनाया जाता है मोहर्रम, रमजान के बाद दूसरा सबसे पाक महीना

ट्रक ड्राइवर और कंडक्टर्स की हत्‍या करने वाले गिरोह के सदस्‍य अब तक कर चुके 14 लोगों की हत्‍या

ट्रक ड्राइवर और कंडक्टर्स की हत्‍या करने वाले गिरोह के सदस्‍य अब तक कर चुके 14 लोगों की हत्‍या

Post By : Dastak Admin on 08-Sep-2018 11:59:44

truck driver and cleaner murder


भोपाल.  ट्रक ड्राइवर और कंडक्टर्स का कत्ल करने वाले आदेश खामरा के हिस्से में हर वारदात के बाद महज 40-50 हजार रुपए ही आते थे। इतनी ही रकम उसके साथी जयकरण को भी मिलती थी। अब तक हुए खुलासे में पुलिस को पता चला है कि 14 कत्ल करने के बाद आदेश और जयकरण को महज तीन-तीन लाख रुपए ही मिल सके थे। बिलखिरिया थाने में पूछताछ के दौरान जब एक सिपाही ने आदेश को घूरा तो वह बोला- घूर मत मुझको, मैं कोई जेबकतरा नहीं हूं। तुम लोग मुझे को-ऑपरेट करोगे तो ही मैं करूंगा।

बता दें कि  भोपाल पुलिस ने ट्रक लूटने के बाद ड्राइवर और क्लीनर की हत्या करने वाले गिरोह का खुलासा किया है।  3 लोगों का ये गिरोह 14 हत्याएं कर चुका है। गिरोह मध्य प्रदेश के बाहर दूसरे राज्यों में भी सक्रिय था। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इन्होंने अब तक 12 घटनाओं में 14 हत्याएं और लूट का खुलासा किया है। 
 
अंतरराज्यीय हत्यारे के पकड़े जाने की सूचना मिलते ही पुलिस के पास दूसरे राज्यों की पुलिस ने भी संपर्क शुरू कर दिया है। राजनांदगांव और रायपुर से पुलिस को फोन आए हैं कि उनके थाना क्षेत्रों में भी ठीक इसी अंदाज में ट्रक ड्राइवर-कंडक्टर की हत्याएं हुई हैं। फिलहाल तीनों आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं। एसपी साउथ राहुल लोढा के मुताबिक आरोपियों से पूछताछ में और भी कई वारदातों का खुलासा होगा। आदेश की पत्नी मंडीदीप से वर्ष 2016 में पार्षद चुनाव लड़ने की तैयारी में थी। 

गुना रूट से जाते थे उप्र, जिसमें टोल नाका न हो: आरोपी बिलखिरिया और पुणे में वारदात के बाद ट्रक लेकर सिरोंज होकर गुजरे। यहां से गुना, अशोक नगर, भितरवार होकर उप्र पहुंच जाते थे। इन्हें दूसरे प्रदेशों के भी ऐसे रास्ते पता हैं, जिन पर टोल नाके नहीं पड़ते। यदि कोई टोल नाका नजर आ भी जाए तो वह रास्ता बदलकर वे गांव की सड़क पकड़ लेते थे। ऐसा केवल इसलिए ताकि टोल नाके के सीसीटीवी कैमरे में ट्रक नंबर या उनके चेहरे न आ जाएं।

बड़ी कंपनी के ट्रक की थी डिमांड: जयकरण और आदेश केवल उन्हीं ट्रक ड्राइवर्स को निशाना बनाते थे, जो एक नामी वाहन निर्माता कंपनी का ट्रक चला रहे हों। इनमें भी वे केवल 12 या 14 चक्का ट्रक को ही चुनते थे। ऐसे ट्रकों की रीसेल वैल्यू ज्यादा रहती थी। पुलिस को ग्वालियर निवासी उस दलाल की तलाश है, जो ट्रक उप्र और बिहार में बिकवाने का काम करता था। वही ट्रक में भरा माल भी औने-पौने दाम में बिकवा देता था।

Tags: truck driver and cleaner murder

Post your comment
Name
Email
Comment
 

भोपाल संभाग

विविध