खास खबरें कलेक्टर ने दी डेड लाइन: सीएम हेल्पलाइन की पेंडिंग शिकायतें एक सप्ताह में हल करें आज भी दो महिलाओं ने की प्रवेश की कोशिश, तनाव सीरिया में पड़ रही मौसम की मार, कड़ाके की ठण्‍ड से 15 बच्‍चों की मौत मनु साहनी बने आईसीसी के नए सीईओ सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के अपनी ही पार्टी के लिए बगावती बोल, कहा- पार्टी में अब 'तानाशाही' अंकिता लोखंडे ने इजहार, बोलीं- 'हां मैं प्यार में हूं' शीर्ष 100 ग्लोबल थिंकर्स की सूची में भारतीय मुकेश अंबानी का नाम मीजल्स की बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा कर्नाटक : दो निर्दलीय विधायकों ने लिया समर्थन वापस, सीएम कुमार स्‍वामी बोले- मेरी सरकार स्थिर संगम का पहला स्नान, उमड़ रहा जनसैलाब

ये है टोमटैटो प्‍लांट, एक ही पौधे में उगते है ऊपर टमाटर-नीचे आलू

ये है टोमटैटो प्‍लांट, एक ही पौधे में उगते है ऊपर टमाटर-नीचे आलू

Post By : Dastak Admin on 15-Jan-2019 09:00:57

tomtato plant, tomato and potato in single plant


रायपुर। अगर आपको एक ही फलदार पौधे पर दो अलग-अलग किस्म के फल देखने को मिले तो कैसा होगा। यह किसी चमत्कार की तरह महसुस होता है, लेकिन कृषि अनुसंधान से जुड़े छात्र इस तरह के अनूठे प्रयोगों के अंजाम दे रहे हैं। रायपुर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की शोध छात्रा ने एक ऐसा पौधा तैयार किया है जिसमें टमाटर और आलू दोनों की पैदावार एक साथ हो रही है। विश्वविद्यालय की स्टूडेंट् गरिमा दीवान ने ग्राफ्टिंग (कलम बांधना) के पद्धति से तैयार किया है। रिसर्च के रूप में कार्य कर रही गरिमा का कहना है इससे एक ही मेहनत में दो फसल तैयार किया जा सकता है।

कीटों से मिलेगी राहत
नवाचार की इस पद्धति में टमाटर और आलू में लगने वाले कीटों से भी राहत मिलेगी, क्योंकि दोनों फसलों की पैदावार अवधि में लगभग दो महीने का अंतर होगा। एक फसल तैयार होने के बाद दूसरी फसल को लिया जा सकता है। इसमें युवराज टमाटर व कफूरी आलू को ग्राफ्टिंग कर लगाया है। सबसे पहले टमाटर का पौधा लगाया गया। उसके डेढ़ महीने बाद ही आलू को लगाया गया। जो काफी सफल रहा है। विदेशों में इस तकनीक से उगाए गए उत्पाद को टॉमटैटो कहते हैं। उद्यानिकी विभाग की फ्रंट लाइन डिमॉस्ट्रेशन योजना के तहत इंदिरा गांधी कृषि विवि के वैज्ञानिकों किया गया है। जिससे कृषक की आय में बढोतरी होगी।

नवबंर में किया गया ग्राफ्टिंग
गरिमा ने बताया कि ग्राफ्टिंग की शुरूआत नवबंर में टमाटर के पौध से शुरू हुआ। डेढ़ महिने बाद आलू के पौध को टमाटर के पौधे ग्राफ्टिंग किया गया। 90 दिन में पौधे के ऊपर टमाटर और नीचे आलू विकसित हुए। कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक प्रदेश में अब तक बैगन व टमाटर की वाइल्ड वेरायटी के साथ प्रोडक्टिव वेरायटी को ग्राफ्ट कर उत्पादन बढ़ाया जा रहा है। आलू-टमाटर के हाईब्रिड पौधे के सफल रहने पर बिना अतिरिक्त खर्च टमाटर के साथ आलू के उत्पादन में 4-5 टन बढ़ने की उम्मीद है।

Tags: tomtato plant, tomato and potato in single plant

Post your comment
Name
Email
Comment
 

कृषि

विविध