खास खबरें यूडीए की जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस, युवक ने काट ली हाथ की नस आधार है पूरी तरह सुरक्षित, इससे मिली आम नागरिक को पहचान : सुप्रीम कोर्ट यूएन में ट्रम्‍प ने की भारत की तारीफ 'लाखों लोगों को गरीबी से बाहर निकाला' बैडमिंटन स्‍टार साइन नेहवाल की बैडमिंटन खिलाड़ी पी कश्‍यप के साथ बनी जोड़ी, जल्‍द होने वाली है शादी पीएम मोदी पर अक्रामक हुए राहुल गांधी बोले, पीएम मोदी है 'कमांडर इन थीफ' श्रीदेवी की मौत के बाद इस तरह पिता और बहनों के करीब आये अर्जुन कपूर निफ्टी 11100 के पार, सेंसेक्स 200 अंक मजबूत संबल योजना में 2 करोड़ से अधिक श्रमिक लाभान्वित : राज्यमंत्री श्री पाटीदार टॉपर छात्रा से पहले भी कई लड़कियों को अपना शिकार बना चुके थे रेवाड़ी काण्‍ड के दरिंदे आज से शुरू होगा, पितृों का पूजन-तर्पण, पूर्णिमा का होगा पहला श्राद्ध

मुख्यमंत्री ने किया भावसा मध्यम सिंचाई परियोजना का शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने किया भावसा मध्यम सिंचाई परियोजना का शिलान्यास

Post By : Dastak Admin on 05-Sep-2018 22:40:22

bhavsa madhyam sinchai pariyojna

बुरहानपुर | प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को बुरहानपुर में 104.45 करोड़ रूपये से बनने वाली भावसा मध्यम सिंचाई परियोजना का शिलान्यास किया। इस दौरान उनके साथ प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस, सांसद श्री नंदकुमार चौहान एवं श्री प्रभात झा, बुरहानपुर पावरलूम फेडरेशन के अध्यक्ष श्री ज्ञानेश्वर पाटिल, महापौर श्री अनिल भोंसले, नगर निगम अध्यक्ष श्री मनोज तारवाला सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे। 
    इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थितो को सम्बोधित करते हुये बताया कि जिले के वनग्राम नईचौण्डी के समीप अमरावती नदी पर बनने वाली इस मध्यम सिंचाई योजना जून 2020 तक पूर्ण हो जायेगी। इससे ग्राम मोरखेड़ाखुर्द, मोरखेड़ाकला, भावसा, खामनी, मैथाखारी, बडसिंगी, दहीहांडी की 9 हजार एकड़ भूमि सिंचित होगी। वही इस परियोजना का अप्रत्यक्ष लाभ ग्राम नईचाण्डी, मालवीर, मोहद, बंभाड़ा, निमगॉव, शाहपुर, बोरगॉव, कोदरी, रायगॉव, बरूखारी को भी मिलेगा।
    श्री चौहान ने उपस्थित किसानों को बताया कि जिले की यह पहली ग्रेविटी सूक्ष्म भूमिगत पाईप लाईन प्रणाली वाली योजना है। जिसमें किसानो को बिना बिजली व्यय किये अपने खेतो तक सिंचाई का पानी मिलेगा। वही किसानो की भूमि भी अधिग्रहित नही होगी। इससे किसान भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘‘ पर ड्राप मोर क्राप ‘‘ अर्थात जल की बूंद-बूंद का उपयोग कर न्यूनतम जल से अधिकतम सिंचाई लेने का अव्हान पूर्ण कर अपना विकास कर सकेंगे। वहीं बॉध में संग्रहित होने वाली आपार जल राशि के कारण वनक्षेत्र में लगे पेड-पौधे, वन्य प्राणियो को भी गर्मी में लाभ मिलेगा।  

Tags: bhavsa madhyam sinchai pariyojna

Post your comment
Name
Email
Comment
 

बुरहानपुर

विविध