खास खबरें वाट्सएप पर पोस्ट करने पर पटवारी की शिकायत, कलेक्टर ने उज्जैन किया अटैच पीएम मोदी ने की ट्विटर के सीईओ से मुलाकात, ट्विटर की तारीफ में बोले ये... अफरीदी ने इमरान को दी सलाह, कश्‍मीर को छोड़ पहले अपने 4 राज्‍य संभालें मिताली ने टी-20 में बनाया रिकॉर्ड, रोहित-विराट को भी पीछे छोड़ा राहुल गांधी की मौजूदगी में टिकट बंटवारे को लेकर पायलट और डूडी में कहासुनी लेक कोमो में सात जन्‍मों के बंधन में बंधे रणवीर-दीपिका, करण जौहर ने दी बधाई आज से दिल्‍ली में शुरू होगा ट्रेड फेयर, 18 से मिलेगी आम लोगों को एंट्री पीएम मोदी-राहुल गांधी 16 नवम्‍बर को मध्‍यप्रदेश के एक ही जिले करेगें रैलियां बहू और उसके परिजनों की प्रताड़ना से तंग आ ससुर खुद को गोली मार की आत्‍महत्‍या छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

टीएल बैठक में अनुपस्थित रहने पर 2 अधिकारियों को अवैतनिक करने के निर्देश

टीएल बैठक में अनुपस्थित रहने पर 2 अधिकारियों को अवैतनिक करने के निर्देश

Post By : Dastak Admin on 28-Aug-2018 16:18:25

tl meeting

300 दिवस से अधिक सीएम हेल्पलाइन 3 दिवस में करें निराकरण - कलेक्टर 
 
मुरैना | कलेक्टर श्री भरत यादव ने समस्त जिला अधिकारियों को निर्देशित किया कि 300 दिवस से अधिक सीएम हेल्पलाइन को 3 दिवस के अंदर निराकरण करें। इस कार्य में लापरवाही बरदास्त नहीं होगी। टीएल बैठक से 2 अधिकारी अनुपस्थित रहने पर उनको अवैतनिक करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। जिसमें प्राचार्य पॉलीटेकनिक कॉलेज मुरैना और तहसीलदार जौरा के नाम शामिल है। उन्होने कहा कि अभी तक जिन अधिकारियों को अवैतनिक किया है। उनकी जानकारी मय सेवा पुस्तिका के मंगवाया जाना सुनिश्चित करें कि वेतन काटने संबंधी कार्यवाही की है, कि नही। इस प्रकार के निर्देश स्टेनों को दिये। 
    कलेक्टर ने कहा कि अधिकारी सीएल हेल्पलाइन के प्रति गंभीर रहे, जिस किसी विभाग की सीएम हेल्पलाइन भोपाल द्वारा जांच में पाई गई तो उस अधिकारी के विरूद्ध सख्त कार्यवाही होगी। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ सुश्री सोनिया मीणा, अपर कलेक्टर एसके मिश्रा, एसडीएम, जिला अधिकारी, जनपद सीईओ सहित नगरीय निकायों के सीएमओ उपस्थित थे। 
    बैठक में कलेक्टर ने कहा कि बरसात के समय होने वाली बीमारियों पर काबू पाने के लिए मैदानी स्वास्थ्य टीम सतर्क रहे इस कार्य में लापरवाही न बरतें। जिन क्षेत्रों में मलेरिया या डेंगू के लक्षण पाये गये तो उन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही होगी। कलेक्टर ने कहा कि असंगठित श्रमिक योजना के तहत कार्ड का वितरण अधिकतर हो चुका है। शेष को जल्द से जल्द पूर्ण करें। शासन की योजना के तहत विभाग उस कार्ड को मान्य करें। अनावश्यक हितग्राही को अलग-अलग कागज मागने के लिए मजबूर न करें। जिसमें विशेष कर स्कूल में दाखिला, स्कूल फीस, आदि। 
एससी, एसटी और ओबीसी छात्रों को डिजिटल जाति प्रमाण पत्र बनवायें
    कलेक्टर श्री भरत यादव ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार जाति प्रमाण पत्र में आवश्यक संसोधन किया है, जिसमें एससी, एसटी और ओबीसी के छात्र- छात्राओं को डिजिटल जाति प्रमाण पत्र बनाकर 15 दिवस के अन्दर उपलब्ध करावें। उन्होने कहा कि अगर उनके परिजन का जाति प्रमाण पत्र बना हुआ है, तो ऐसे छात्र-छात्राओं के जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए उन्हें परेशान नही किया जाये। उन्होने कहा कि सहरिया परिवारों को शासन द्वारा 1 हजार रूपये की राशि प्रदान की जाती है। वह राशि उन्हीं के खाते में पहुचंना सुनिश्चित करें। 
अवकाश पर रहने वाले अधिकारियों के अधीनस्थ कर्मचारी टीएल में रहे
    कलेक्टर श्री भरत यादव ने कहा कि अक्सर टीएल बैठक में अधिकारी अवकाश पर चले जाते है। ऐसी स्थिति में अधिकारी अवकाश, न्यायालय के कार्य से मुख्यालय पर नहीं रहते हैं, तो ऐसे अधिकारियों के अधीनस्थ कर्मचारी टीएल बैठक में उपस्थित होना सुनिश्चित करें। 

 

Tags: tl meeting

Post your comment
Name
Email
Comment
 

मुरैना

विविध