खास खबरें मोगली बाल उत्सव- 2018, एप्को में राज्य स्तरीय ट्रेनर एवं क्विज मास्टर प्रशिक्षण कार्यक्रम आज रेवाड़ी गैंगरेप काण्‍ड के दो अन्‍य आरोपी SIT की गिरफ्त में राफेड विवाद में पाक ने अड़ाई अपनी टांग, कहा- सरकार कर रही पीएम मोदी को बचाने की कोशिश खेल मंत्रालय ने दी सफाई, विराट कोहली को क्‍यों चुना गया 'खेल रत्‍न' के लिए समाजवादी पार्टी की ‘सामाजिक न्याय व लोकतंत्र बचाओ’ यात्रा पहुँची जंतर-मंतर, पार्टी संस्थापक और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने भरी हुंकार सनी देओल-साक्षी तंवर स्‍टॉरर 'मोहल्‍ला अस्‍सी' आखिरकार इस दिन होगी रिलीज मुंबई में पेट्रोल के दाम पहुँचे 90 रूपये के करीब राष्ट्रीय स्कॉलरशिप परीक्षाओं के आवेदन की अंतिम तिथि 25 सितम्बर आंध्रप्रदेश : नक्‍सलियों ने की टीडीपी के विधायक और पूर्व विधायक की हत्‍या क्‍यों मनाई जाती है अनंत चतुदर्शी, क्‍या है अंनतसूत्र का महत्‍व

केन्द्रीय जेल सागर में साप्ताहिक योग एवं विधिक शिविर का किया गया शुभारंभ

केन्द्रीय जेल सागर में साप्ताहिक योग एवं विधिक शिविर का किया गया शुभारंभ

Post By : Dastak Admin on 25-Aug-2018 20:23:12

vidhik saksharta shivir


 
सागर | जेल में निरूद्ध बंदियों को मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ्य करने एवं कानूनी रूप से सबल बनाने के उद्देश्य से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर के द्वारा ’’आर्ट ऑफ लिविंग’’ संस्था के समन्वय से केन्द्रीय जेल, सागर में साप्ताहिक योग एवं विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसका शुभारंभ 25 अगस्त को जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री एस. के. शर्मा के द्वारा केन्द्रीय जेल, सागर में किया गया। 
    इस अवसर पर जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष श्री एस. के. शर्मा द्वारा उपस्थित बंदियों को संबोधित करते हुए बताया कि योग के माध्यम से जहॉं शारीरिक विकार तो दूर तो होतें ही हैं वहीं मानसिक चेतना भी जागृत होती है और इससे मनुष्य में नकारात्मकता दूर होकर सकारात्मक विचार आते हैं। इस प्रकार जिला न्यायाधीश द्वारा बंदियों को इस योग शिविर का लाभ उठाने के लिए प्रेरित किया गया। सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री एम.के. जैन द्वारा उपस्थित बंदियों को नि:शुल्क विधिक सहायता के बारे में जानकारी दी गई और उन दोशसिद्ध बंदियों की भी जानकारी प्राप्त की गई जो मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय, जबलपुर में अपील करना चाहते हैं। इस दौरान अपर जिला न्यायाधीश, श्री मोहित कुमार द्वारा उपस्थित बंदियों को जीवन में आध्यात्म के महत्व के बारे में बताया गया। योग प्रशिक्षक श्री कपिल मलैया एवं श्री सचिन ज्योतिषी के द्वारा उपस्थित बंदियों को योग के महत्व के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया। और कहा कि उनके द्वारा आगामी सात दिवसों में प्रत्येक दिन प्रात: 07:00 से 09:00 बजे तक बंदियों को योग विद्या के बारे में बताया जाएगा। 
    इस अवसर पर श्री पंकज कुमार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, श्री अमित सिंह सिसोदिया, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, श्री अनुज कुमार चन्सौरिया, जिला विधिक सहायता अधिकारी, जेल अधीक्षक श्री मदन कमलेश सहित केन्द्रीय जेल के अन्य अधिकारीगण एवं पैरालीगल वालेंटियर्स उपस्थित रहे।

 

Tags: vidhik saksharta shivir

Post your comment
Name
Email
Comment
 

सागर

विविध