खास खबरें कलेक्टर ने 5 व्यक्तियों को जिला बदर किया पत्नी को शॉपिंग के लिए बताया एटीएम का पिन, क्या आप बता सकते हैं वो 4 नंबर प्‍ले स्‍टोर पर गेम की जगह लोगों ने डाउनलोड कर लिया वायरस INDvsAUS पहला टी20: ये 12 खिलाड़ी बने टीम का हिस्‍सा, BCCI ने घोषित किया नाम सुषमा स्‍वराज के चुनाव नहीं लड़ने की बात पर बोले चिदंबरम 'बीजेपी की हालत देख छोड़ रही मैदान' प्रियंका ने दोस्‍तों को भेजी शादी की मिठाई, सामने आया वेडिंग कॉर्ड मार्क जुकरबर्ग नहीं देंगे फेसबुक के चेयरमैन पद से इस्‍तीफा मंच से बोली हेमा मालिनी 'ये बसंती की इज्‍जत का सवाल है' ओडिशा : भैंस बचाने में पुल से नीचे गिरी यात्रियों से भरी बस, 12 की हुई मौत हरि-हर मिलन: श्रीहरी को राजपाठ सौंपकर महादेव करते हैं तपस्या के लिए प्रस्थान

जिले में बरगद के पेड़ लगाये जायेंगे

जिले में बरगद के पेड़ लगाये जायेंगे

Post By : Dastak Admin on 15-Aug-2018 15:58:49

plantation


दमोह |  कलेक्टर डॉ. जे विजय कुमार ने बरगद के पौधों को सभी पंचायतों में रोपने के लिए कहा है। इसी तारतम्य में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा कार्य योजना तहत सभी पंचायतों में बरगद लगाने के कार्यवाही तय कराई है।
   इस संबंध में सीईओ जिला पंचायत डी.एस. रणदा ने बताया बरगद एक चमत्कारी वृक्षों में से एक है सिर्फ इसकी हवा से लटकती जड़ों के कारण ही नहीं बल्कि इस पेड़ की अद्भुत संरचना, जिसमें पेड़ अपने हर एक भाग को जकड़ हुए है। यह प्रकृति के उन कुछ तत्वों में से जिसमें इसी प्रत्येक आकार या अवस्था का उपयोग किया जाता है। इसी कारण से बरगद को भारत का राष्ट्रीय पेड़ माना गया है।
   उन्होंने बताया भारतीय संस्कृति में बरगद को पूजनीय माना गया है तथा इसकी पत्तियों में भगवान श्री कृष्ण निवास करते है। माना जाता है कि भगवान बुद्ध को ज्ञानोदय की प्राप्ति बरगद के नीचे ही हुई है, बरगद के बहुत सारे उपयोग है। चिकित्सा एवं मनोरंजन से जीवन को ऐसा कोई भाग नही है जहां इस वृक्ष ने मानवीय सहायता न की हो।
   बरगद के कुछ विभिन्न उपयोग- यह भारत का राष्ट्रीय वृक्ष है, बरगद सिर्फ एक पेड़ नहीं बल्कि हमारी पूरी सृष्टि है, शास्त्रों में भी इसे मानव जाति के लिए महत्वपूर्ण बताया गया है। इसकी छल में भगवान विष्णु जड़ों में ब्राम्हा और प्रत्येक शाखाओं में शिव का वास होता है। यह पेड़ प्रत्येक घंटे में 500 लोगों के लिए ऑक्सीजन उत्सर्जित करता है। यह वृक्ष अपनी जड़ों में मिट्टी को बांधकर रखते है, जिससे मृदा अपरदन नहीं होता। यह वृक्ष अपने आसपास के वातावरण दूषित वायु को स्वच्छता के साथ साथ भूमि को भी ठण्डा रखता है।
   बरगद का पेड़ विभिन्न गांवों में छाया का एक स्त्रोत है, चिकित्सा के क्षेत्र में पेड़ का प्रत्येक भाग अद्वितीय है, शरीर के तापमान एवं मधुमेंह को एक समान बनाये रखने के लिए इसकी छालों एवं बीजों को उपयोग औषधी के रूप में किया जाता है। दांतों एवं मसूड़ों की मजबूत बनाने के लिए इसकी जड़ों का उपयोग ब्रश के रूप में किया जाता है। त्वचा संबंधी रोगी के उपचार के लिए बरगद में बहुत गुण है। पेड़ की छाल के उपयोग से कागज बनाये जा सकते है।
   भारतीय चीनी क्षेत्र की महिलाएं बरगद की जड़ों का मिश्रण बनाकर अपने बालों में लगाती है, जिससे उनके बाल स्वस्थ एवं चमकदार बने रहते है। बरगद को पत्तियों का उपयोग भोजन परोसने में किया जाता है।

Tags: plantation

Post your comment
Name
Email
Comment
 

दमोह

विविध