खास खबरें कलेक्टर ने 5 व्यक्तियों को जिला बदर किया पत्नी को शॉपिंग के लिए बताया एटीएम का पिन, क्या आप बता सकते हैं वो 4 नंबर प्‍ले स्‍टोर पर गेम की जगह लोगों ने डाउनलोड कर लिया वायरस INDvsAUS पहला टी20: ये 12 खिलाड़ी बने टीम का हिस्‍सा, BCCI ने घोषित किया नाम सुषमा स्‍वराज के चुनाव नहीं लड़ने की बात पर बोले चिदंबरम 'बीजेपी की हालत देख छोड़ रही मैदान' प्रियंका ने दोस्‍तों को भेजी शादी की मिठाई, सामने आया वेडिंग कॉर्ड मार्क जुकरबर्ग नहीं देंगे फेसबुक के चेयरमैन पद से इस्‍तीफा मंच से बोली हेमा मालिनी 'ये बसंती की इज्‍जत का सवाल है' ओडिशा : भैंस बचाने में पुल से नीचे गिरी यात्रियों से भरी बस, 12 की हुई मौत हरि-हर मिलन: श्रीहरी को राजपाठ सौंपकर महादेव करते हैं तपस्या के लिए प्रस्थान

अशासकीय स्कूलों में फीस निर्धारण के लिए हुई परिचर्चा

अशासकीय स्कूलों में फीस निर्धारण के लिए हुई परिचर्चा

Post By : Dastak Admin on 10-Sep-2018 10:36:34

मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग

 

बाल संरक्षण अधिकार आयोग ने विशेषज्ञों से माँगे सुझाव 

मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने आज भोपाल के सुभाष हायर सेकेण्डरी स्कूल में अशासकीय स्कूलों में फीस निर्धारण पर परिचर्चा का आयोजन किया। परिचर्चा में राष्ट्रीय बाल आयोग के सदस्य श्री प्रियंक कानूनगो, मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्री राघवेन्द्र शर्मा और विभिन्न अशासकीय स्कूलों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

बैठक में राष्ट्रीय बाल आयोग के सदस्य श्री प्रियंक कानूनगो ने फीस निर्धारण के आदर्श प्रारूप की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देश में लगभग 35 हजार निजी स्कूल चल रहे हैं, जिनमें से सीबीएसई पाठ्यक्रम के लगभग 19 हजार और आईसीएससी पाठ्यक्रम के लगभग तीन हजार स्कूल हैं। फीस निर्धारण संबंधी विसंगतियाँ इन्हीं पाठ्यक्रमों से संबंधित स्कूलों में पाई गई हैं। इस संबंध में पालकों ने शासन को शिकायतें की थीं, जिन्हें हल करने के लिए आयोग ने ये परिचर्चा आयोजित की। उन्होंने कहा कि देश के हरियाणा और दिल्ली राज्यों की तुलना में मध्यप्रदेश में फीस को लेकर शिकायतें कम हैं।

परिचर्चा में आयोग के सदस्य बृजेश चौहान, जिला शिक्षा अधिकारी श्री धीरेन्द्र चतुर्वेदी, डॉ. राघवेन्द्र शर्मा, बिलाबोंग इंटरनेशनल स्कूल के प्राचार्य श्री आशीष अग्रवाल समेत बड़ी संख्या में विषय विशेषज्ञ उपस्थित थे।

 

करूणा राजुरकर

Tags: मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग

Post your comment
Name
Email
Comment
 

मध्य प्रदेश

विविध