खास खबरें कालिदास समारोह स्थगित होने के आदेश जारी अनंत कुमार का अंतिम संस्कार आज, पीएम ने बेंगलुरु जाकर दी श्रद्धांजलि मार्वल कॉमिक्स के रियल लाइफ 'सुपरहीरो' स्टैन ली का निधन विराट कोहली खो बैठे थे अपना संयम - विश्‍वनाथन आनंद संघ को लेकर मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी में सियासी घमासान, शिवराज बोले 'कोई नहीं रोक सकता' सलमान खान करना चाहते थे जूही से शादी, लेकिन पिता ने ठुकरा दिया था प्रपोजल निफ्टी 10460 के पास, सेंसेक्स 95 अंक कमजोर सॉंप के डसने से हुई बुजुर्ग की मौत, जिंदा करने मुर्दाघर में चलती रही तंत्र क्रिया केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का आज बेंगलुरू में राजकीय सम्‍मान के साथ अंतिम संस्‍कार छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

गौरवशाली विरासत को सहेजने में इंटेक का योगदान सराहनीय-संभागायुक्त

गौरवशाली विरासत को सहेजने में इंटेक का योगदान सराहनीय-संभागायुक्त

Post By : Dastak Admin on 08-Sep-2018 21:02:14

city heritage walk

 

जबलपुर | संभागायुक्त आशुतोष अवस्थी ने कहा है कि ऐतिहासिक विरासतों, परम्पराओं, संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन में इंटेक की जबलपुर इकाई ने उल्लेखनीय कार्य किये हैं।  उन्होंने कहा मदन महल की पहाड़ियों को सहेजने का कार्य करना है।  स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत भी इंटेक से संबंधित कार्यों को गति दी जायेगी। 
   संभागायुक्त श्री अवस्थी इंटेक की जबलपुर इकाई की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी को हमारी गौरवशाली विरासत में अवगत रखने के लिये महत्वपूर्ण जानकारियों तथा तथ्यों को लेखबद्ध कर संरक्षित किया जायेगा। आदिवासियों की तथा विभिन्न क्षेत्रों की बोली जो लुप्त होती जा रही है उन्हें भी सहेजा जाना चाहिये।  
    बैठक में बताया गया कि जबलपुर शहर में कर्नल स्लीमन के समय की कुछ इमारतें है। उनको इंटेक की पहल से संरक्षित करने की कार्ययोजना बनायी जा रही है।  म.प्र. शासन के धर्मस्व विभाग के अन्तर्गत जबलपुर जिले के पांच मंदिर संरक्षण के लिये चिन्हित किये गये हैं। इसके लिये डी.पी.आर. तैयार कर आगे की कार्रवाई की जायेगी। कटनी जिल के ग्राम बिलहरी में पुरातत्वीय अवशेष पाये गये हैं।  इनका संरक्षण किया जाएगा। 
    बैठक में बताया गया कि विरासत जबलपुर पुस्तक में जबलपुर के धरोहरों को सूचीबद्ध किया गया है। इस महत्वपूर्ण कार्य को रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के इतिहास एवं पुरातत्व विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. एस.एन. शर्मा ने किया है। 
    बैठक में देवताल स्थित मंदिर का संरक्षण नगर निगम तथा इंटेक के परस्पर सहयोग से करने पर विचार हुआ। इंटेक की जबलपुर इकाई के कन्वीनर डॉ. आर.के. शर्मा ने वार्षिक आय-व्यय का व्यौरा प्रस्तुत किया।  श्री शर्मा ने बताया 28 सितंबर को इंटेक द्वारा जागो हेरिटेज एवं सिटिजनशिप पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन शासकीय मानकुंवर बाई महिला महाविद्यालय में किया जायेगा। इसमें धरोहरों के संरक्षण एवं जागरूकता पर व्याख्यान होंगे।  दिसंबर माह में जबलपुर में जियो आर्कीलॉजिकल डेस्टिनेशन पर राष्ट्रीय सेमीनार का आयोजन भी किया जायेगा।  ये सब आयोजन स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सहयोग से सम्पन्न होंगे। 
    डॉ. शर्मा ने बताया कि स्थानीय प्रतिभा को सम्मान देने के इंटेक के कार्यक्रम के तहत इंटेक के सदस्य डॉ. एस.के. तिवारी द्वारा आचार्य रजनीश एक लोकोत्तर व्यक्तित्व पुस्तक लिखी गयी है, जो कि प्रकाशित हो चुकी है।  इसी तरह समकालीन पन्ना की बुंदेली विरासत प्रोजेक्ट पर भी कार्य किया जा रहा है। 
    बैठक में बताया गया कि राय बहादुर डॉ. हीरालाल जी की 150वीं वर्षगांठ गत वर्ष इंटेक द्वारा मनायी गयी थी।  डॉ. हीरालाल जी ने जबलपुर के लिये उल्लेखनीय कार्य किये थे।  बताया गया कि जबलपुर अतीत दर्शन का तीसरा संस्करण प्रकाशित कर दिया गया है।  इंटेक मुख्यालय द्वारा सौंपे गये कार्य शोध परियोजना ए.डिक्शनरी ऑफ हिस्टारिकल प्लेस नेम्स ऑफ मध्यप्रदेश पर इंटेक के संयोजक द्वारा कार्य किया जा रहा है। 
    बैठक में नगर निगम आयुक्त चन्द्रमौलि शुक्ला, इंटेक के वरिष्ठ सदस्यगण, राजेन्द्र तिवारी, राधेश्याम अग्रवाल, मेधा दुबे, डॉ. अनुपम सिन्हा, डॉ. एस.के. तिवारी, डॉ. छाया राय, संजीव सलिल, डॉ. आर.एन. श्रीवास्तव, डॉ. वन्दना गुप्ता, डॉ. एस.एन. मिश्रा, डॉ. साधना उपाध्याय, रोहित पटेरिया आदि सदस्य मौजूद थे।

Tags: city heritage walk

Post your comment
Name
Email
Comment
 

जबलपुर

विविध