खास खबरें माहौल बिगाड़ने वालों के विरूद्ध होगी रासुका की कार्रवाई तीन तलाक अध्यादेश को मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी, कानून मंत्री ने की पुष्टि ईलाज के बहाने पत्नि को भेजा भारत, फिर वाट्सएप पर दे दिया तलाक एशिया कप में आज भारत-पाक का होगा आमना-सामना नीतीश-मोदी के खिलाफ राहुल-तेजस्‍वी करेंगे 'MY+BB' फॉर्मूले पर काम मैडम तुसाद में नजर आएंगी सनी लियोन निफ्टी 11300 के ऊपर, सेंसेक्स 100 अंक मजबूत पत्रकारों के लिये स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा की राशि बढ़कर 4 लाख हुई दिल्‍ली : 7 साल की मासूम के साथ हुई हैवानियत, आरोपी ने प्राइवेट पार्ट में डाला प्‍लास्टिक का पाइप क्‍यों मनाई जाती है तेजा दशमी, कौन थे तेजाजी महाराज ?

अधिकारियों में प्रतिबद्धता की कमी खेदजनक – कलेक्टर श्रीमती भारद्वाज

अधिकारियों में प्रतिबद्धता की कमी खेदजनक – कलेक्टर श्रीमती भारद्वाज

Post By : Dastak Admin on 10-Sep-2018 21:34:01

cm helpline samiksha


सी.एम.हैल्पलाइन की शिकायतों के लंबित रहने को लेकर नाराजगी जताई, समय – सीमा बैठक सम्पन्न 
जबलपुर | कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने सी.एम.हैल्पलाइन में विभिन्न विभागों से संबंधित शिकायतें लंबे समय से लंबित रहने को लेकर नाराजगी जताई है। समय-सीमा बैठक में सी.एम. हैल्पलाइन की लंबित शिकायतों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने अधिकारियों के क्षमतावान होने के बावजूद उनमें प्रतिबद्धता की कमी के चलते शिकायतों का समय से निराकरण न हो पाने को खेदजनक निरूपित किया। 
   श्रीमती भारद्वाज ने समीक्षा के दौरान खाद्य, कृषि, उद्यानिकी और आदिवासी विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा सी.एम. हैल्पलाइन शिकायतों के निराकरण में अपेक्षित रूचि नहीं लिए जाने को लेकर अप्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को इस संबंध में अधिक परिश्रम कर लंबित शिकायतों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। श्रीमती भारद्वाज ने काफी अरसे से लंबित छात्रवृत्ति संबंधी शिकायत को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए इस मामले में तत्काल आवश्यक कार्यवाही के लिए सहायक आयुक्त को पाबंद किया। अगस्त माह में सी.एम. हेल्पलाइन की शिकायतों का एक तहसीलदार तथा दो नायब तहसीलदारों द्वारा उनके स्तर पर एक भी संतुष्टिकारक निराकरण नहीं किए जाने पर कलेक्टर ने सम्बन्धितों की दो-दो वेतनवृद्धियां रोके जाने के लिए नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। श्रीमती भारद्वाज ने शिक्षा विभाग में भी हैल्पलाइन शिकायतों के निराकरण की स्थिति को शोचनीय करार देते हुए तुरंत सुधार के लिए पहल किए जाने की जरूरत पर जोर दिया। 
   बैठक में कलेक्टर ने चने के लंबित भुगतान को लेकर संबंधित अधिकारियों को तत्काल आवश्यक कदम उठाने को कहा। उन्होंने बिजली कंपनी के अफसरों को सख्ती से ताकीद की कि सात दिन के अंदर ग्रामीण क्षेत्रों के सभी खराब ट्रांसफार्मर बदले जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने खाद्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क न होने के कारण राशन सामग्री के वितरण में दिक्कतें पेश आ रहीं हैं वहां ऑफलाइन वितरण किया जाए। श्रीमती भारद्वाज ने सी.ई.ओ. जिला पंचायत हर्षिका सिंह को पेंशन संबंधी शिकायतों का निराकरण कराने के लिए उपयुक्त कदम उठाने को कहा। जिला पेंशन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि शिक्षकों की लंबित शिकायतों का प्राथमिकता से निराकरण सुनिश्चित किया जाए। बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसी भी प्रकार की शासकीय संपत्तियों पर नारे अथवा अन्य प्रकार के लेखन को संबंधित विभाग प्रमुख तीन दिन में मिटवा कर आवश्यकतानुसार पुताई करायें। इनमें स्कूल, सरकारी दफ्तर या अन्य सरकारी इमारतें शमिल हैं। तीन दिन में निर्देशित कार्यवाही कर अधिकारियों को इसकी रिपोर्ट उप जिला निर्वाचन अधिकारी नम:शिवाय अरजरिया को प्रस्तुत करनी होगी। 
निर्वाचन की पूर्व तैयारियों के प्रति गंभीरता बरतें
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती भारद्वाज ने अधिकारियों को आगाह किया कि वे निर्वाचन की पूर्व तैयारियों के प्रति पूरी गंभीरता बरतें। उन्होंने सभी शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों के नाम निर्वाचक नामावलियों में जुड़वाने सम्बन्धी निर्देशों के पालन में विभाग प्रमुखों द्वारा की गई पहल की बाबत् ब्यौरा तलब किया। उन्होंने निर्देश दिए कि विभाग प्रमुखों को अगले सप्ताह तक इस सिलसिले में प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना होगा। कलेक्टर ने कहा कि ड्यूटी पर तैनात सभी सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट जारी किए जाएंगे ताकि वे अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। जिला निर्वाचन अधिकारी ने साफ किया कि निर्वाचन से जुड़े प्रशिक्षणों में अधीनस्थ अधिकारियों व कर्मचारियों का सम्मिलित होना सुनिश्चित करने का दायित्व सम्बन्धित विभाग प्रमुख का होगा। श्रीमती भारद्वाज ने निर्वाचन कार्य के लिए जोनल अधिकारी बनाए गए अधिकारियों से अपेक्षा की कि वे अपने जोन के समस्त मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर इंतजामों का जायजा ले लें। निर्वाचक नामावली सम्बन्धी किसी मसले के लिए सम्बन्धित रिटर्निंग ऑफिसर से सम्पर्क किया जाना चाहिए। इसी प्रकार मतदान केन्द्रों की क्रिटिकलिटी और वल्नरेबिलिटी की भी जरूरी तौर पर समीक्षा की जाए। 
    बैठक में सीईओ जिला पंचायत हर्षिका सिंह, अपर कलेक्टर व्ही.पी.द्विवेदी, सरोधन सिंह और एफ.राहुल हरिदास तथा सभी विभाग प्रमुख मौजूद थे।

Tags: cm helpline samiksha

Post your comment
Name
Email
Comment
 

जबलपुर

विविध