खास खबरें मुंबई की मॉडल ने महाकाल मंदिर समिति से मांगी माफी विजय माल्‍या-नीरव मोदी के बाद एक और कारोबारी देश से फरार मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने पर रोक लगाने इस देश में हो रही तैयारी 'गोल्‍डन ग्‍लोब' रेस में हिस्‍सा ले रहे भारतीय नौसेना के अभिषेक भीषण तूफान में फंसे, बचाव दल रवाना पाकिस्‍तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने राहुल गांधी को पीएम बनाने की तरफदारी सनी लियोन को मिला था 'गेम ऑफ थ्रोन्‍स' में काम करने का मौका, इसलिए कर दिया मना... सेंसेक्स 110 अंक , निफ्टी 11100 के नीचे मिंटो हॉल अन्तर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर के रूप में तैयार पति-पत्नि के बीच हुआ झगड़ा, पति ने की किस करने की कोशिश, पत्‍नी ने काट दी जीभ आज से शुरू होगा, पितृों का पूजन-तर्पण, पूर्णिमा का होगा पहला श्राद्ध

’’प्रसाद से पोषण’’ विषय पर आंगनबाड़ी केन्द्रों में मना कृष्ण जन्मोत्सव

’’प्रसाद से पोषण’’ विषय पर आंगनबाड़ी केन्द्रों में मना कृष्ण जन्मोत्सव

Post By : Dastak Admin on 05-Sep-2018 22:14:02

prasad se poshan

 

कटनी | संचालनालय महिला एवं बाल विकास विभाग के निर्देशानुसार 1 सितम्बर से 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह के रुप में मनाया जा रहा है। कटनी जिले में राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत मनाये जा रहे पोषण माह के अन्तर्गत जन्माष्टमी के अवसर पर आंगनबाड़ी केन्द्रों में कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इस दौरान कार्यकर्ता, पर्यवेक्षक एवं अधिकारियों ने महिलाओं को पोषण के लिये आहार के महत्व को समझाया।
    जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास प्रतिभा पाण्डेय ने विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों का भ्रमण कर संचालित गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होने महिलाओं को समझाया कि द्वापर काल में भी महिलायें जानती थीं हर दो घंटे में बच्चे को भोजन की आवश्यकता होती है। कृष्ण को लगाये जाने वाले 56 भोग की शुरुआती कथा में समझाया गया है कि माता यशोदा हर 2 घंटे बालक कृष्ण को कुछ न कुछ खिलाती रहती थीं। गोवर्धन पर्वत को 7 दिन तक अपने हाथों में उठाने से दिन में 8 बार के मान से 7 दिन तक 56 बार कृष्ण लला कुछ खा नहीं पाये। तब माता यशोदा ने स्थानीय उपलब्ध पदार्थों, दूध, दही, माखन, मिश्री, साग सब्जी से 56 प्रकार के व्यंजन तैयार कर कृष्ण को पोषण की पूर्ति करने के लिये तैयार कर खिलाये। इस मौके पर उन्होने प्रसाद के रुप में बांटे जाने वाले भोज्य पदार्थों में उपलब्ध पोषक तत्वों की विस्तार से जानकारी दी।

Tags: prasad se poshan

Post your comment
Name
Email
Comment
 

कटनी

विविध