खास खबरें माहौल बिगाड़ने वालों के विरूद्ध होगी रासुका की कार्रवाई तीन तलाक अध्यादेश को मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी, कानून मंत्री ने की पुष्टि ईलाज के बहाने पत्नि को भेजा भारत, फिर वाट्सएप पर दे दिया तलाक एशिया कप में आज भारत-पाक का होगा आमना-सामना नीतीश-मोदी के खिलाफ राहुल-तेजस्‍वी करेंगे 'MY+BB' फॉर्मूले पर काम मैडम तुसाद में नजर आएंगी सनी लियोन निफ्टी 11300 के ऊपर, सेंसेक्स 100 अंक मजबूत पत्रकारों के लिये स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा की राशि बढ़कर 4 लाख हुई दिल्‍ली : 7 साल की मासूम के साथ हुई हैवानियत, आरोपी ने प्राइवेट पार्ट में डाला प्‍लास्टिक का पाइप क्‍यों मनाई जाती है तेजा दशमी, कौन थे तेजाजी महाराज ?

मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये

मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये

Post By : Dastak Admin on 25-Aug-2018 20:49:30

samiksha meeting


मुख्य सचिव श्री बसंत प्रताप सिंह ने इंदौर में की समीक्षा 
मण्डला | मुख्य सचिव श्री बसंत प्रताप सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि राज्य शासन की प्राथमिकता वाली तथा महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये। यह ध्यान रखा जाये कि कोई भी पात्र व्यक्ति लाभ से वंचित नहीं रहें और अपात्र को किसी भी हाल में लाभ नहीं मिले। हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ निर्धारित समय में ही दें। इससे योजनाओं के उद्देश्यों की पूर्ति हो सकेगी। अंत्येष्टि सहायता योजना में मृतक के परिवार को तुरंत सहायता राशि दी जाये। संभव होने पर यह राशि शासकीय सेवक मृतक के परिजन के घर पहुँचकर स्वयं दें।
    मुख्य सचिव श्री सिंह आज इंदौर संभाग के अधिकारियों की उच्च-स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। मुख्य सचिव ने कहा कि सभी पात्र व्यक्तियों का पंजीयन हो जाये। सभी एसडीओ पंचायतवार समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि सितंबर माह में एक और समीक्षा बैठक रखी जायेगी, जिसके पहले सभी एसडीओ अपने क्षेत्रों की पंचायतों में योजना के क्रियान्वित की समीक्षा करें। समीक्षा में कमियाँ पाये जाने पर उसे तुरंत दूर करें। जरूरत के समय सहायता राशि देंगें तो वह राशि उद्देश्यों को पूरा करने में उपयोगी हो सकेगी। उन्होंने परीक्षण कर अपात्र व्यक्तियों के नाम भी हटाने के निर्देश दिये।
    प्रमुख सचिव श्री संजय दुबे ने योजना की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इंदौर संभाग में इस योजना पर प्रभावी अमल किया जा रहा हैं। संभाग में अभी तक 1704 हितग्राही की मृत्यु होने पर दो-दो लाख रूपये की अनुग्रह सहायता दी गई। दुर्घटना में मृत्यु होने पर 229 हितग्राहियों के परिजनों को 4-4 लाख की सहायता राशि दी गई। इसी तरह अंत्येष्टि सहायता में 2000 परिवारों को मृतक की अंत्येष्टि के लिए 2-2 हजार की मदद दी गई। इसी तरह संभाग में सरल बिजली योजना में 10 लाख 26 हजार 533 परिवारों को लाभांवित किया गया। प्रसव पूर्व 7,864 तथा प्रसव बाद 9 हजार से अधिक महिलाओं को आर्थिक मदद दी गई।
    बैठक में अपर मुख्य सचिव वन श्री के.के. सिंह, संभागायुक्त श्री राघवेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव लोक सेवा प्रबंधन श्री हरीरंजन राव, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के एमडी श्री आकाश त्रिपाठी, वाणिज्यिक कर आयुक्त श्री पवन शर्मा, श्रमायुक्त श्री राजेश बहुगुणा, श्री अजीत कुमार सहित संभाग के जिलों के कलेक्टर, अपर कलेक्टर, जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Tags: samiksha meeting

Post your comment
Name
Email
Comment
 

मंडला

विविध