खास खबरें महर्षि पाणिनि संस्कृत विवि में तीसरा युवा महोत्सव आज से शुरू सुरक्षा बलों की 100 कंपनियों ने की घाटी में कूच, यासीन मलिक को किया गया अरेस्ट पुलवामा हमला : दबाव में आया पाकिस्‍तान ने जैश-ए-मोहम्मद के मुख्‍यालयों का नियंत्रण अपने हाथ में लिया यहॉ शुरू होगा नये नियमों वाला क्रिकेट, टूर्नामेंट में खेली जाएंगी 100 बॉल पीएम मोदी आज राजस्‍थान में करेंगे करेंगे रैली, टोंक से करेंगे चुनावी अभियान की शुरूआत 'दिल चोरी साडा़ हो गया' को मिला सॉन्‍ग ऑफ दि ईयर का अवॉर्ड पीएफ पर बढ़ी ब्‍याज दर, नौकरीपेशा को होगा इतना लाभ मध्‍यप्रदेश में यहा मिला मिला 70 लाख टन सोने का भंडार PRC : अरूणाचल प्रदेश के ईंटानगर में भड़की हिंसा, इंटरनेट बंद संकष्टी चतुर्थी : श्री गणेश दूर कर देते है जीवन के सारे विघ्‍न

2004 और 2016 के सिंहस्थ महाकुंभ में बन रहा है 17 दिनों का अदभूत संयोग

Post By : Dastak Admin on 12-Mar-2016 11:06:28

सिंहस्थ 2004

उज्जैन। सिंहस्थ 2016 का प्रारम्भ 22 अप्रैल चैत्र शुक्ल 15 शुक्रवार के दिन से होगा और इसका समापन वैशाख शुक्ल 15 शनिवार 21 मई को प्रमुख स्नान से होगा। रोचक तथ्य यह है कि विगत सिंहस्थ की तिथियों से इस बार की तिथियों में 17 दिनों का अंतर आ रहा है। सिंहस्थ 2004 में पहला स्नान 5 अप्रैल को था इस बार प्रथम स्नान 22 अप्रैल को होगा। इसी तरह वर्ष 2004 में शाही स्नान 4 मई को सम्पन्न हुआ था जबकि इस बार 21 मई को 2016 को प्रमुख स्नान होना है।

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

परिवार के साथ समय व्‍यतीत करेंगे। विचारों की सकारात्‍मकता विश्‍वास बढ़ाएगी। अटके काम में गति आएगी। भौतिक सुख साधनों में बढ़ाेतरी होगी। लंबी दूरी की यात्रा से मन में प्रसन्‍नता रहेगी।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    उपदेश देना सरल है, उपाय बताना कठिन। -रविंद्रनाथ टैगोर

विविध