खास खबरें खाटू श्याम जन्मोत्सव आज अमृतसर ब्‍लॉस्‍ट मामले में राजनाथ सिंह ने दिऐ सख्‍त जांच के निर्देश, एनआईए की टीम पहुंची अमृतसर क्‍यों जमाल खशोगी के हत्‍या के टेप को सुनने से ट्रम्‍प को कर दिया गया मना ? विश्व महिला मुक्केबाजी के क्‍वार्टर फाइनल में पहुँची मैरीकॉम सीएम खट्टर ने दिया विवादित बयान, बोले-रिश्‍ते खराब होने पर ज्‍यादातर होते है रेप के मामले दर्ज, कांग्रेस ने कहा-माफी मांगों अयोध्‍या में कारसेवकों के साथ हुये गोलीकाण्‍ड पर बनी 'राम जन्मभूमि' का ट्रेलर रिलीज RBI बोर्ड की अहम बैठक शुरू, किन अहम मुद्दों पर होगा विचार .... राज्यपाल के जन्म दिन पर न्यू मार्केट व्यापारी संघ पुस्तकें भेंट करेगा लालू प्रसाद यादव की तबीयत हुई खराब, पैर में हआ फोड़ा, बिगड़ी हालत देवोत्‍थान एकादशी के दिन कभी न करें ये काम..

इस सिंहस्थ में नहीं मांगेगे बच्चे भीख

Post By : Dastak Admin on 17-Mar-2016 16:21:31

ujjain

उज्जैन  सिंहस्थ-2016 चाइल्ड फ्रेंडली और दिव्यांग फ्रेंडली होगा। इस सिंहस्थ क्षेत्र में इस प्रकार की व्यवस्थाएँ की जा रही हैं जिनसे हर बच्चा और दिव्यांग व्यक्ति आराम से पूर्ण सुरक्षित रूप से स्नान कर सकेगा। कमिश्नर उज्जैन रवीन्द्र पस्तौर ने कहा कि सिंहस्थ के दौरान मेला क्षेत्र में कोई भी बच्चा भीख मांगता नजर नहीं आयेगा। कमिश्नर सिंहस्थ कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में कलेक्टर भी मौजूद थे। कमिश्नर ने जानकारी दी कि सिंहस्थ-2016 को चाइल्ड फ्रेंडली और नि:शक्त फ्रेंडली बनाने के लिये विषय-विशेषज्ञ पंकज मारू को नियुक्त किया गया है।  मारू सर्वेक्षण कर मेला प्रशासन को आवश्यक सुझाव और सलाह देंगे। यहीं नहीं जिन मंदिर परिसर में भिखारी बैठते हैं उनके प्रबंधकों को पत्र लिखा जाये कि वे परिसरों में भिखारियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करें। यदि बुजुर्ग भीख माँगते नजर आये तो उन्हें अंबोदिया सेवा धाम और भिखारी बच्चों को आश्रय गृहों में भेजा जाये।  2004 सिंहस्थ में भी प्रशासन ने इस संबंध में कारगर कदम उठाए थे। 

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

धन संबंधी मामलों में बुद्धि व विवेक से फैसले लें। कल्‍याणकारी कार्यों में भाग लेंगे। संतान से खुशियां मिलेंगी। युवा वर्ग को करियर के महत्‍वपूर्ण फैसले लेने पड़ सकते हैं। परिवार का पूर्ण सहयोग मिलेगा।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    वही व्‍यक्ति समर्थ है जो यह मानता है कि वह समर्थ है। महात्‍मा बुद्ध -

विविध