खास खबरें वाट्सएप पर पोस्ट करने पर पटवारी की शिकायत, कलेक्टर ने उज्जैन किया अटैच पीएम मोदी ने की ट्विटर के सीईओ से मुलाकात, ट्विटर की तारीफ में बोले ये... अफरीदी ने इमरान को दी सलाह, कश्‍मीर को छोड़ पहले अपने 4 राज्‍य संभालें मिताली ने टी-20 में बनाया रिकॉर्ड, रोहित-विराट को भी पीछे छोड़ा राहुल गांधी की मौजूदगी में टिकट बंटवारे को लेकर पायलट और डूडी में कहासुनी लेक कोमो में सात जन्‍मों के बंधन में बंधे रणवीर-दीपिका, करण जौहर ने दी बधाई आज से दिल्‍ली में शुरू होगा ट्रेड फेयर, 18 से मिलेगी आम लोगों को एंट्री पीएम मोदी-राहुल गांधी 16 नवम्‍बर को मध्‍यप्रदेश के एक ही जिले करेगें रैलियां बहू और उसके परिजनों की प्रताड़ना से तंग आ ससुर खुद को गोली मार की आत्‍महत्‍या छठ पूजा : संतान प्राप्ति और उनकी मंगल कामना के लिए करते है सूर्य की उपासना

2004 के सिंहस्थ में सेवाएं देने वाले ये अधिकारी भी इस सिंहस्थ में भी देंगे अपनी सेवाएं

Post By : Dastak Admin on 25-Mar-2016 10:14:13

राज्य प्रशासनिक सेवा

उज्जैन। सिंहस्थ महाकुंभ में प्रशासन ने अनुभवी एवं कर्मठ राज्य प्रशासनिक अधिकारियों को उज्जैन बुलाया है। कई इस लिस्ट में कई अधिकारी तो ऐसे भी है जो 2004 के सिंहस्थ महाकुंभ में अपनी सेवाएं दे चूके है। ये चयनित अधिकारी अब 2016 के सिंहस्थ महाकुंभ में भी उज्जैन प्रशासन को सेवाओं देंगे।

 

ये है वो अधिकारी…

नरेन्द्र सूर्यवंशी, अपर कलेक्टर

संतोष वर्मा, अपर कलेक्टर

नीरज वशिष्ट, अतिरिक्त मेला अधिकारी

विवेक श्रोत्रिय, अपर कलेक्टर

अनिल पटवा, संयुक्त कलेक्टर

जगदीश गोमे, डिप्टी कलेक्टर

शिव कुमार दूबे, साधू सत्कार अधिकारी

क्षितिज शर्मा, एसडीएम उज्जैन

दिलीप गरुड़, सहायक प्रशासनिक अधिकारी

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

वाद विवाद से संभवत : दूर रहने की चेष्‍टा करें। काम में उतावलापन दिखाने से बचें। विद्यार्थियों का मन पढ़ाई से भटक सकता है। व्‍यापार व नौकरी में अनुकूल स्थितियां रहेंगी। रुका धन मिल सकता है।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    हमारे अंदर सबसे बड़ी कमी यह है कि हम चीजों के बारे में बात ज्‍यादा करते हैं और काम कम। - जवाहरलाल नेहरू

विविध