खास खबरें खाटू श्याम जन्मोत्सव आज अमृतसर ब्‍लॉस्‍ट मामले में राजनाथ सिंह ने दिऐ सख्‍त जांच के निर्देश, एनआईए की टीम पहुंची अमृतसर क्‍यों जमाल खशोगी के हत्‍या के टेप को सुनने से ट्रम्‍प को कर दिया गया मना ? विश्व महिला मुक्केबाजी के क्‍वार्टर फाइनल में पहुँची मैरीकॉम सीएम खट्टर ने दिया विवादित बयान, बोले-रिश्‍ते खराब होने पर ज्‍यादातर होते है रेप के मामले दर्ज, कांग्रेस ने कहा-माफी मांगों अयोध्‍या में कारसेवकों के साथ हुये गोलीकाण्‍ड पर बनी 'राम जन्मभूमि' का ट्रेलर रिलीज RBI बोर्ड की अहम बैठक शुरू, किन अहम मुद्दों पर होगा विचार .... राज्यपाल के जन्म दिन पर न्यू मार्केट व्यापारी संघ पुस्तकें भेंट करेगा लालू प्रसाद यादव की तबीयत हुई खराब, पैर में हआ फोड़ा, बिगड़ी हालत देवोत्‍थान एकादशी के दिन कभी न करें ये काम..

बिजासन माता का मंदिर

Post By : Dastak Admin on 30-Dec-2015 15:14:57

बिजासन माता का मंदिर

 विंद्यवासिनी को बिजासन माता कहा जाता है । यह विंध्य पर्वत के आसपास के क्षेत्रो में या आर्यावत अथवा मध्य देश में विशेष पूजी जाती है । उज्जैन में इस प्रमुख देवी का मंदिर होना स्वाभाविक है । उज्जैन के देवास मार्ग पर नागझिरी के दक्षिण में और पुराने शहर के सिंहपुरी में बिजासन देवी का प्राचीन मंदिर है । इसी प्रकार गढ़कालिका के पास ओखलेश्वेर मार्ग पर भी बिजासन माता का प्राचीन स्थान है। यह उत्तर भारत की ऐसी सिद्ध देवी है जिनकी लोग बड़ी आस्था से पूजा करते है ।

 

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

म. प्र में विधानसभा के चुनाव होने जा रहे है। क्या भाजपा की सरकार वापस आयेगी ?
हां
50%
ujjain poll
नहीं
50%
पता नहीं
सर्वेक्षण

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

धन संबंधी मामलों में बुद्धि व विवेक से फैसले लें। कल्‍याणकारी कार्यों में भाग लेंगे। संतान से खुशियां मिलेंगी। युवा वर्ग को करियर के महत्‍वपूर्ण फैसले लेने पड़ सकते हैं। परिवार का पूर्ण सहयोग मिलेगा।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    वही व्‍यक्ति समर्थ है जो यह मानता है कि वह समर्थ है। महात्‍मा बुद्ध -

उज्जैन सिनेमा

 

उज्जैन मानचित्र

पंचक्रोशी यात्रा मानचित्र

विविध