खास खबरें विकासखण्ड स्तर पर आयोजित रोजगार मेले में 400 युवाओं का हुआ पंजीयन सुप्रीम कोर्ट में राफेल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई 26 को पुलवामा हमला : दबाव में आया पाकिस्‍तान ने जैश-ए-मोहम्मद के मुख्‍यालयों का नियंत्रण अपने हाथ में लिया यहॉ शुरू होगा नये नियमों वाला क्रिकेट, टूर्नामेंट में खेली जाएंगी 100 बॉल पीएम मोदी आज राजस्‍थान में करेंगे करेंगे रैली, टोंक से करेंगे चुनावी अभियान की शुरूआत 'दिल चोरी साडा़ हो गया' को मिला सॉन्‍ग ऑफ दि ईयर का अवॉर्ड पीएफ पर बढ़ी ब्‍याज दर, नौकरीपेशा को होगा इतना लाभ MP: प्रशासनिक सर्जरी, राज्य प्रशासनिक सेवा के 47 अधिकारियों के तबादले PRC : अरूणाचल प्रदेश के ईंटानगर में भड़की हिंसा, इंटरनेट बंद संकष्टी चतुर्थी : श्री गणेश दूर कर देते है जीवन के सारे विघ्‍न

खोखा माता का मंदिर

Post By : Dastak Admin on 30-Dec-2015 15:17:48

खोखा माता का मंदिर

 पटनी बाजार के पास मोदी की गली में खोखा माता का अति प्राचीन मंदिर है । ८४ महादेवो में से एक इंद्र धूमनेश्वेर महादेव मंदिर के अग्रभाग में खोखा माता की मूर्ति विराजित है । चतुर्भुज स्वरुप वाली मूर्ति में माताजी अपने हाथों में खप्पर, डमरू ,तलवार तथा मुंड लिए हुए है । साथ ही माताजी का मुख खुला हुआ है । मान्यता है कि माताजी के मुख में रखा प्रसाद खाने से पुरानी से पुरानी खाँसी ठीक हो जाती है । रोग से मुक्ति मिलने पर भक्त माता को भोग लगाने आते है ।

खोखा माता माता पार्वती का रूप है । जोकि इंद्रधुम्नेश्वेर महादेव मंदिर में भगवन शिव के साथ विराजमान है । मान्यता है कि कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को भगवान इंद्रधुम्नेश्वेर महादेव पर काले उड़द चढ़ाने से ग्रह-क्लेश से मुक्ति मिलती है तथा घर में सुख-शांति बानी रहती है ।

 

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

देश में लोक सभा के चुनाव होने वाले है। क्या केन्द्र में भाजपा की सरकार फिर से आयेगी ?
हां
51%
ujjain poll
नहीं
47%
पता नहीं
2%
सर्वेक्षण

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

परिवार के साथ समय व्‍यतीत करेंगे। विचारों की सकारात्‍मकता विश्‍वास बढ़ाएगी। अटके काम में गति आएगी। भौतिक सुख साधनों में बढ़ाेतरी होगी। लंबी दूरी की यात्रा से मन में प्रसन्‍नता रहेगी।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    उपदेश देना सरल है, उपाय बताना कठिन। -रविंद्रनाथ टैगोर

उज्जैन सिनेमा

 

उज्जैन मानचित्र

पंचक्रोशी यात्रा मानचित्र

विविध