खास खबरें महर्षि पाणिनि संस्कृत विवि में तीसरा युवा महोत्सव आज से शुरू सुरक्षा बलों की 100 कंपनियों ने की घाटी में कूच, यासीन मलिक को किया गया अरेस्ट पुलवामा हमला : दबाव में आया पाकिस्‍तान ने जैश-ए-मोहम्मद के मुख्‍यालयों का नियंत्रण अपने हाथ में लिया यहॉ शुरू होगा नये नियमों वाला क्रिकेट, टूर्नामेंट में खेली जाएंगी 100 बॉल पीएम मोदी आज राजस्‍थान में करेंगे करेंगे रैली, टोंक से करेंगे चुनावी अभियान की शुरूआत 'दिल चोरी साडा़ हो गया' को मिला सॉन्‍ग ऑफ दि ईयर का अवॉर्ड पीएफ पर बढ़ी ब्‍याज दर, नौकरीपेशा को होगा इतना लाभ मध्‍यप्रदेश में यहा मिला मिला 70 लाख टन सोने का भंडार PRC : अरूणाचल प्रदेश के ईंटानगर में भड़की हिंसा, इंटरनेट बंद संकष्टी चतुर्थी : श्री गणेश दूर कर देते है जीवन के सारे विघ्‍न

उज्जैन दर्शन

सरस्वती वंदना

Post By : Dastak Admin on 20-May-2018 22:32:33

saraswati vandna

हे शारदा माँ , हे शारदा माँ ,

अज्ञानता से हमें तार दे माँ !

तू श्वेत वर्णी कमल पे विराजे ,

हाथों में वीणा मुकुट सर पे साजे !

हम हैं अकेले हम हैं अधूरे ,

 तेरी शरण हम हमें तार दे माँ !

तू स्वर की देवी संगीत तुझमें ,

हर शब्द तेरा हरेक गीता तुझमें !

मन से हमारे मिटा दे अँधेरा ,

हमको उजालों का संसार दे माँ !

मुनियों ने समझी गुनियों ने जानी ,

वेदों की भाषा पुराणों की वाणी !

हम भी तो समझें हम भी तो जानें ,

विद्या का हमको भी अधिकार दे माँ !

हे शारदा माँ , हे शारदा माँ ,

अज्ञानता से तू हमें तार दे माँ !

Post your comment
Name
Email
Comment
 

विविध